Karva Chauth : परदेस से करतीं फोन ‘देश में निकला क्या चांद ’

परदेस जा बसी महिलाओं ने नहीं छोड़ी भारतीय संस्कृति

ऐप के जरिए पर्व,त्योहार मनाने की विधि व अन्य जानकारी संभव

अजमेर. भारतीय महिला के लिए करवा चौथ का पर्व अलग ही महत्व रखता है। सदियों से हर सुहागिन को इस पर्व की प्रतीक्षा रहती है। भारतीय संस्कृति में पति की दीर्घायु, स्मृद्धि, कुशलता,अगाढ़ प्रेम और रिश्ते की मजबूती के लिए पत्नी व्रत और पूजा के जरिए कामनाएं करती है। करवा चौथ का पर्व अब भारत देश की सीमाओं को लांघकर सात समंदर पार भी पहुंच गया है। विदेशों में लाखों प्रवासी भारतीय परिवार बस गए,लेकिन उन्होंने भारतीय संस्कृति को विस्मृत नहीं किया। विदेशों में भारत जैसी जलवायु नहीं है। इसलिए वहां के माहौल के हिसाब से ही करवा चौथ का पर्व मनाया जाता है। बहू विदेश में रहती है तो सास के लिए इंटरनेट के जरिए गिफ्ट भेज रही है। परदेस के आकाश में बादल छाए रहने पर चांद नहीं दिखता। ऐसे में फोन के जरिए भारत में पूछा जाता है कि चांद दिख गया क्या..? कई महिलाएं ऐसी भी हैं जिनके पति विदेश में रहते हैं, लेकिन पत्नी करवा चौथ का व्रत रख कर पति के दीर्घायु की कामनाएं कर रही है। इंटरनेट के जरिए फोटो भेजने,संदेश व भावनाओं का इजहार बढ़ गया है। अब इंटरनेट पर केवल फोटो और चांद ही नहीं देख सकते, बल्कि इस त्यौहार से जुड़ी हर जानकारी भी हासिल संभव है। सोशियल मीडिया की वजह से आजकल सभी जानकारी आसानी उपलब्ध हो रही है।

अजमेर निवासी ऐसी ही एक विवाहिता प्रतिभा शर्मा जर्मनी में बस गई,लेकिन उन्होंने करवा चौथ का व्रत करना नहीं छोड़ा। उसे हर साल इस दिन का इंतजार रहता है। कथा, पूजन सामग्री व विधि-विधान की जानकारी एप्प पर उपलब्ध है। प्रतिभा के अनुसार भारतीय पर्व व त्योहार में मर्यादा, उत्साह, प्रेम व समर्पण रहता है। करवा चौथ पर वह दिनभर व्रत रखती है। रात को चांद का दीदार होने पर ही व्रत खोलती है। जर्मनी में रहते हुए उसे चार साल हो गए,लेकिन एक बार ही आकाश में चांद दिखा है। शेष तीन साल उसे अजमेर में फोन कर पूछना पड़ा कि चांद दिख गया क्या? दरअसल जर्मनी में अधिकतर समय आकाश में बादलों का डेरा रहता है। इसी प्रकार विद्या कालानी, सरिता मंघानी, विजयलक्ष्मी कोरानी तथा सावित्री देवनानी आस्ट्रेलिया व अमरीका में बस गई,लेकिन हर साल करवा चौथ का व्रत करना नहीं भूलती। इनका कहना है कि भारतीय पर्व मनाकर उन्हें अपनत्व का अहसास होता है। फिर करवा चौथ तो उनकी जिंदगी का अहम दिन की तरह है।
आरती संग्रह ऐप : इस ऐप के जरिए आप यह जान सकते हैं कि कौन-कौनसे देवी-देवताओं की कौनसी आरती है। कैसे उनका व्रत विधान है। इसमें आप सभी देवी देवताओं की ऑफ लाइन भी आरती सुन व पढ़ सकते हैं।

करवा चौथ फोटो फ्रेम ऐप : आप इस ऐप की मदद से आप अपने जीवन साथी के साथ बिताए हसीन यादगार लम्हों क ी तस्वीर पर करवा चौथ का ग्रीटिंग और सुन्दर मैसेज लिख सकती हैं।

करवा चौथ इमेज ऐप : करवा चौथ पर आप इस ऐप की मदद से करवा चौथ से जुड़े अच्छे-अच्छे वॉल पेपर व स्पलैश वॉल पेपर ,कलर्ड स्केच और खूबसूरत चांद की तस्वीरें डाउनलोड कर सकते हैं। उसे सोशल मीडिया उपयोग कर सकते हैं, पोस्ट कर सकते हैं।
फ्लावर ओरा : इस करवा चौथ पर आप सरगी से लेकर सुहाग की थाली, गिफ्ट, केक, फ्लावर और अन्य चीजें ऑनलाइन ऑर्डर कर सकती हैं। इसके लिए फ्लावर ओरा वेबसाइट से करवा चौथ की आक र्षक थाली, छलनी, सुंदर डेकोरेटेड लोटा, पूजा सामग्री, ड्राई फ्रूट्स, पूजा की किताब, मिठाई,केक, और भी कई चीजें एक साथ मिलेंगी।

himanshu dhawal
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned