scriptOnline education system derailed, children upset | ऑनलाइन शिक्षण की व्यवस्था बेपटरी, बच्चे परेशान ! | Patrika News

ऑनलाइन शिक्षण की व्यवस्था बेपटरी, बच्चे परेशान !

निजी स्कूलों में मनमर्जी से ले रहे ऑनलाइन क्लास, कम बच्चे जुडऩे पर टालमटोल, सरकारी स्कूलों में शहरी व ग्रामीण क्षेत्र कोरोना काल में अलग-अलग शिक्षण व्यवस्था

अजमेर

Published: January 29, 2022 01:37:28 pm

चन्द्र प्रकाश जोशी

अजमेर. कोरोना संक्रमण के चलते कक्षा एक से बारहवीं तक पढ़ाई करने वाले छात्र-छात्राओं की शिक्षण व्यवस्था भी दो साल से बदली हुई है। ऑनलाइन शिक्षण व्यवस्था के नाम पर कई निजी स्कूलों की ओर से मनमानी की जा रही है। ऑनलाइन क्लास में कम बच्चों के जुडऩे पर शिक्षक-शिक्षिकाएं टालमटोल कर रहे हैं तो कुछ का समय निर्धारित नहीं है। उधर, सरकार स्कूलों में शहरी स्कूल में जहां ऑनलाइन शिक्षण की व्यवस्था की गई है तो ग्रामीण क्षेत्र में ऑफलइन कक्षाएं चल रही है।
ऑनलाइन शिक्षण की व्यवस्था बेपटरी, बच्चे परेशान !
ऑनलाइन शिक्षण की व्यवस्था बेपटरी, बच्चे परेशान !
केन्द्र व राज्य सरकार की कोरोना गाइड लाइन के चलते पिछले ढाई साल से छात्र-छात्राओं की शिक्षण व्यवस्था भगवान भरोसे चल रही है। चालू सत्र में कुछ माह ऑफ लाइन शिक्षण व्यवस्था के चलते छात्र-छात्राएं स्कूल पहुंचे तो फिर ऑनलाइन कक्षाएं प्रारंभ कर दी गई। शहरी क्षेत्र में ऑनलाइन शिक्षण दिया जा रहा है तो ग्रामीण क्षेत्रों में स्कूलों में बच्चों की पढ़ाई करवाई जा रही है। ऐसे में शिक्षण की समानता नहीं होने पर जिला समान परीक्षा योजना पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं।
कई निजी स्कूलों में यह मनमानी

-ऑनलाइन शिक्षण का समय निर्धारित नहीं।
-सभी विषयों की ऑनलाइन क्लास अनवरत नहीं।

-कम बच्चे जुडऩे पर बीच में क्लास ऑफ कर दी जाती है।
-पूर्ण तैयारी से नहीं पढ़ा रहे कई शिक्षक।
-डमी बच्चों के चलते बोर्ड कक्षाओं के सभी बच्चे नहीं जुड़ते क्लास में, शेष का नुकसान।

सरकारी स्कूलों में यह आ रही परेशानी

-शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में अलग-अलग शिक्षण।

-ग्रामीण क्षेत्र में शिक्षक कक्षाओं में पढ़ा रहे।
-ऑफलाइन व ऑनलाइन में अलग-अलग शिक्षण।
-ऑफलाइन में बच्चों की उपस्थिति पर्याप्त।
-ऑनलाइन में आधी उपस्थिति।

-सुदूर ग्रामीण क्षेत्र में नेटवर्क के चलते ऑनलाइन पढ़ाई से वंचित

सरकारी शिक्षक खुद कर रहे वीडियो अपलोड

शिक्षा विभाग के शिक्षक खुद चेप्टर के वीडियो बनाकर अपलोड कर रहे हैं। इसमें किशनगढ़ ब्लॉक की शिक्षिका प्रीति शर्मा सहित कई शिक्षक कोरोना काल से ऑनलाइन शिक्षण भी करवा रहे हैं।
इनका कहना है

सरकारी स्कूलों में स्माइल-2 प्रोग्राम के तहत ऑनलाइन शिक्षण की व्यवस्था की गई है। ग्रामीण क्षेत्र में स्कूलों में पढ़ाई करवाई जा रही है।

अजय गुप्ता, एडीपीसी समसा

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

द्वारकाधीश मंदिर में पूजा के साथ आज शुरू होगा BJP का मिशन गुजरात, मोदी के साथ-साथ अमित शाह भी पहुंच रहेRajasthan: एंटी करप्शन ब्यूरो की सक्रियता से टेंशन में Gehlot Govt, अब केंद्र की तरह जांच से पहले लेनी होगी अनुमतिVIP कल्चर पर पंजाब की मान सरकार का एक और वार, 424 वीआईपी को दी रही सुरक्षा व्यवस्था की खत्मओडिशा में "भ्रूण लिंग" जांच गिरोह का भंडाफोड़, 13 गिरफ्तारमां की खराब तबीयत के बावजूद बल्लेबाजों पर कहर बनकर टूटे ओबेड मैकॉय, संगकारा ने जमकर की तारीफRenault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चदिल्ली में डबल मर्डर से सनसनी! एक की चाकू से गोदकर हत्या, दूसरे को गोली मारीEncounter In Ghaziabad: बदमाशों पर कहर बनकर टूटी पुलिस, एक रात में दो इनामी अभियुक्तों को किया ढेर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.