scriptProper arrangements in hospitals, need for caution | अस्पतालों में माकूल इंतजाम, सावधानी की दरकार | Patrika News

अस्पतालों में माकूल इंतजाम, सावधानी की दरकार

ऑक्सीजन के पर्याप्त इंतजाम, तीन हजार सिलैण्डर प्रतिदिन उत्पादन, अन्य प्रदेशों से नहीं मंगवानी पड़ेगी लिक्विड ऑक्सीजन

अजमेर

Updated: January 12, 2022 12:53:51 pm

अजमेर. कोविड 19 की पहली एवं दूसरी लहर के मुकाबले कोरोना की तीसरी लहर एवं ओमिक्रॉन वेरिएंट के मौजूदा संक्रमण काल में संभाग मुख्यालय सहित जिलेभर के चिकित्सा संस्थानों में ऑक्सीजन व अन्य चिकित्सा सुविधाएं पुख्ता हुई हैं। ऑक्सीजन उत्पादन की हाइटैक तकनीक भी अब हमारे पास है। ऐसे में कोरोना संक्रमण से घबराने की नहीं बल्कि सावधानी रखने की जरूत है।
अस्पतालों में माकूल इंतजाम, सावधानी की दरकार
अस्पतालों में माकूल इंतजाम, सावधानी की दरकार
जिलेभर में 39 ऑक्सीजन प्लांट

कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी और वेंटीलेटर की अनुपलब्धता के कारण कई लोगों की जान तक चली गई थी। लेकिन उन विषम हालात से सबक लेते हुए केन्द्र व राज्य सरकार के सहयोग एवं चिकित्सा विभाग की ओर से कई ऑक्सीजन प्लांट स्थापित हो चुके हैं। जिले में दूसरी लहर के बाद 39 नए ऑक्सीजन प्लांट बन चुके हैं।
यह है जिलेभर में ऑक्सीजन प्लांट की स्थिति

चिकित्सा संस्थान क्षमता सिलैण्डर

अरांई 15

राज.अस्पताल केकड़ी 35

राज.अस्पाल केकड़ी 65

राज.अस्पाल केकड़ी 75

डिविजनल रेलवे 50

जेएलएन पीडिएट्रिक 90
जनाना अस्पताल एनएचएम 90

सैटेलाइट (यूके डोनेशन) 110

पंचशील यूपीएचसी 35

चन्द्रवरदाई यूपीएचसी 35

राज. अस्पताल ब्यावर 65

राज.अस्पताल ब्यावर 35

राज. अस्पताल ब्यावर 75

राज. अस्पताल ब्यावर 20
क्षेत्रपाल हॉस्पिटल (प्राइवेट) 50

क्षेत्रपाल हॉस्पिटल(प्राइवेट) 41

यहां भी ऑक्सीजन प्लांट

भिनाय, श्रीनगर, पुष्कर, जवाजा, बिजयनगर सहित अन्य चिकित्सा संस्थानों में भी नए ऑक्सीजन प्लांट लगाए गए हैं।

अन्य राज्यों से नहीं मंगवानी पड़ेगी लिक्विड ऑक्सीजन
दूसरी लहर में लिक्विड ऑक्सीजन के लिए भी मारामारी के हालात बन गए थे। दिल्ली, हरियाणा के बाद गुजरात से लिक्विड ऑक्सीजन के टैंकर मंगवाने पड़े थे। लेकिन इस बार जेएलएन हॉस्पिटल में लिक्विड ऑक्सीजन प्लांट स्थापित होने से अब अन्य राज्यों पर निर्भरता कम हो गई है। लिक्विड ऑक्सीजन सहित 7 नए ऑक्सीजन प्लांट जेएलएन अस्पताल में और स्थापित हुए हैं।
इनका कहना है

दूसरी लहर के बाद अजमेर जिले में 39 ऑक्सीजन प्लांट स्थापित हुए हैं। अब ऑक्सीजन की कमी नहीं रहेगी। लगभग सभी ऑक्सीजन प्लांट स्थापित हो चुके हैं।

डॉ. के.के. सोनी, सीएमएचओ

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

Corona Update: कोरोना ने बनाया नया रिकॉर्ड, 24 घंटे में 3 लाख 47 हजार नए केस, 2.51 लाख रिकवरGhana: विनाशकारी विस्फोट में 17 लोगों की मौत, 59 घायलभारत ने जानवरों के लिए विकसित किया पहला कोरोना वैक्सीन,अब शेर और तेंदुए पर ट्रायल की योजना50 साल से जल रही ‘अमर जवान ज्योति’ आज से इंडिया गेट पर नहीं, राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जलेगीT20 World Cup 2022: ICC ने जारी किया शेड्यूल, इस दिन होगी भारत-पाकिस्तान की टक्करआज जारी होगा कांग्रेस का घोषणा पत्र, युवाओं के लिए होंगे कई वादे'कुछ लोग देशप्रेम व बलिदान नहीं समझ सकते', अमर जवान ज्योति के वॉर मेमोरियल में विलय पर राहुल गांधीVIDEO: राजस्थान का 35 प्रतिशत हिस्सा कोहरे से ढका, अब रहेगा बारिश और ओलावृष्टि का जोर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.