RPSC: कनिष्ठ विधि अधिकारी परीक्षा की उत्तरकुंजी पर मांगी आपत्ति

अभ्यर्थी 29 से 31 जनवरी तक ऑनलाइन आपत्ति दे सकेंगे।

अजमेर.

राजस्थान लोक सेवा आयोग (rpsc ajmer) ने कनिष्ठ विधि अधिकारी (junior legal officer exam) (विधि एवं विधिक कार्य विभाग) प्रतियोगी परीक्षा-2019 की उत्तरकुंजी पर आपत्ति मांगी है। अभ्यर्थी 29 से 31 जनवरी तक ऑनलाइन आपत्ति (online grievance) दे सकेंगे।

Read More:BALIKA DIWAS: जनाना हॉस्पिटल में केक काटकर मनाया बालिका दिवस ...देखिए

उप सचिव सत्यनारायण शर्मा ने बताया कि आयोग ने बीते साल 26 और 27 दिसंबर को कनिष्ठ विधि अधिकारी (विधि एवं विधिक कार्य विभाग) प्रतियोगी परीक्षा-2019 कराई थी। इसके कॉन्सिटट्यूशन ऑफ इंडिया, सीपीसी एंड सीआरपीसी, एविडेंस और लिमिटेशन एक्ट तथा सामान्य हिंदी-अंग्रेजी विषय की उत्तरकुंजी वेबसाइट (website) पर जारी की गई है। अभ्यर्थी इन उत्तरकुंजी पर निर्धारित शुल्क के साथ 29 से तक 31 जनवरी तक रात्रि 12 तक ऑनलाइन आपत्ति दे सकेंगे।

Read More: Security: गणतंत्र दिवस पर जबरदस्त सुरक्षा, पुलिस ने बनाया प्लान

आपत्तियां (grievance) आयोग की वेबसाईट पर उपलब्ध मॉडल प्रश्न पत्र के क्रमानुसार दी जा सकेंगी। वांछित प्रमाण पत्र (documents) नहीं होने की स्थिति में आपत्तियों पर विचार नहीं किया जाएगा। प्रति प्रश्न सौ रुपए आपत्ति शुल्क (सेवा शुल्क अतिरिक्त) देय होगा।

Read More: पुष्कर सरोवर में मौनी अमावस्या पर श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी

परेड में लडखड़़ाई पुलिस की चाल

अजमेर. गणतंत्र दिवस पर होने वाली मुख्य परेड को लेकर शुक्रवार को फाइनल रिहर्सल हुई। इसमें पुलिसकर्मियों की कदमताल बिगड़ी नजर आई। परेड में कुछ पुलिसकर्मी दाएं तो कुछ बाएं चले गए। यह देखकर अधिकारी भी चौंक गए। इसके बाद दोबारा रिहर्सल कराई गई। इसमें कदम ताल बिगाडऩे वाले पुलिसकर्मियों को पीछे रखा गया।

Read More: MDSU: दो साल से देख रहे कलैंडर, जाने कब होगा ये काम...

परीक्षा के लिए ले सकेंगे विशेषज्ञों से परामर्श

अजमेर. तनावग्रस्त होकर परीक्षा देना आपकी सेहत के लिए ठीक नहीं है। घबराहट के बजाय योजनाबद्ध होकर तैयार करें। कुछ इस अंदाज में सीबीएसई के विशेषज्ञ विद्यार्थियों को सलाह देते नजर आएंगे।

raktim tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned