भूमि विवाद : पहले दोनों पक्षों में लाठी-भाटा जंग,फिर एक युवक की ट्रैक्टर से कुचल कर दी हत्या

सवाईमाधोपुर जिले के गोज्यारी गांव का मामला : मृतक के परिजन व ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन, शव के अंतिम संस्कार से किया मना, समझाइश व आश्वासन के बाद हुए राजी,मारपीट में दोनों पक्षों के आधा दर्जन लोग घायल

By: suresh bharti

Published: 23 Nov 2020, 01:16 AM IST

अजमेर/सवाईमाधोपुर. विवाद के दौरान आवेश में कुछ नहीं सूझता। साथ में मूंछ की लड़ाई मानकर हथियार उठाने से भी नहीं चूकते। सवाईमाधोपुर जिले के मलारनाडूंगर क्षेत्र स्थित भूखा ग्राम पंचायत के गोज्यारी गांव में रविवार को भूमि विवाद को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष हुआ, जिसमें एक युवक की ट्रैक्टर से कुचलकर निर्मम हत्या कर दी गई। वहीं एक महिला गंभीर घायल हो गई। दोनों ही पक्ष के आधा दर्जन लोग घायल हुए। इनमें से दो को जयपुर रैफर किया गया है।

युवक मानसिंह ने गंवाई जान

भाड़ौती पुलिस चौकी प्रभारी नरेंद्र सिंह जाट ने बताया कि भूमि विवाद में एक पक्ष के युवक मानसिंह गुर्जर (30) को ट्रैक्टर से कुचल दिया गया। वहीं हमले में जगदीशी पत्नी रूप सिंह गुर्जर, पप्पू गुर्जर पुत्र रामफूल, रामसिंह पुत्र पप्पू गुर्जर, रूपसिंह पुत्र नारायण गुर्जर, श्रीनारायण पुत्र रघुनाथ गुर्जर, गोकुल पुत्र रघुनाथ व नेतराम पुत्र गोकुल गुर्जर बुरी तरह जख्मी हुए हैं। सभी घायलों को भाड़ौती प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर भर्ती करवाया गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद सभी को जिला अस्पताल रैफर कर दिया गया। जिला अस्पताल ले जाते समय मानसिंह ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया।

दो घायल जयपुर रैफर

चिकित्सकों ने नारायण गुर्जर एवं जगदीशी देवी को गंभीर हालत होने पर जयपुर रैफर कर दिया। वहीं दूसरे पक्ष के दो लोगों के घायल होने की सूचना है, जिनका इलाज भी जिला अस्पताल में किया जा रहा है। इधर, गांव में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। समाचार लिखे जाने तक दोनों ही पक्षों ने थाने में रिपोर्ट नहीं दी थी।

अंतिम संस्कार नहीं करने पर अड़े,समझाइश पर माने

इधर, जिला अस्पताल में पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने मृतक के शव को परिजन को सौंप दिया। परिजन निजी एम्बुलेंस से शव गांव ले गए, लेकिन शव को एम्बुलेंस से नहीं उतारा। सूचना पर मलारना डूंगर थानाधिकारी राकेश कुमार यादव, क्यूआरटी इंचार्ज जितेंद्र सिंह गांव में पहुंचे, जहां लोगों को शव का अंतिम संस्कार करने के लिए समझाइश की।

ग्रामीण आरोपियों की गिरफ्तारी करने सहित मृतक आश्रितों को मुआवजे की मांग पर अड़ गए। सूचना पर ग्रामीण पुलिस उपाधीक्षक राकेश राजोरा भी गोज्यारी पहुंच गए, जहां लोगों को तत्काल आरोपियों को गिरफ्तार करने का आश्वासन दिया।

आश्रितों को मुआवजा दिलाने की बात को लेकर उपखण्ड अधिकारी से दूरभाष पर वार्ता की। एसडीएम ने नियमानुसार उचित मुआवजा दिलाने का विश्वास दिलाया। इस दौरान तहसीलदार किशन मुरारी मीना भी मौके पर पहुंचे। तहसीलदार ने आश्रितों को उचित मुवावजा दिलाने का आश्वासन दिया। इस पर परिजन शव का अंतिम संस्कार करने को राजी हुए। गमगीन माहौल में देर शाम शव का अंतिम संस्कार किया गया।

पुलिस को थी जानकारी

पीडि़त परिवार के सदस्यों ने पूर्व में दो बार पुलिस को परिवाद दिया था। पीडि़तों ने बताया कि उन्होंने करीब 15 वर्ष पूर्व जमीन खरीदी थी। अपने नाम भी करवा रखी थी, लेकिन दूसरा पक्ष जबरदस्ती डरा धमका कर हमारे खेतों में जुताई कर रहा था। रविवार को पीडि़त पक्ष के लोग जब अपने खेत पर गए तो दूसरे पक्ष के लोगों ने हमला कर दिया। इस दौरान दोनों ही पक्ष के लोग आमने-सामने हो गए।

suresh bharti Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned