लिपिकों ने फिर की आंदोलन की घोषणा

लिपिकों ने फिर की आंदोलन की घोषणा

amit mandloi | Publish: Sep, 08 2018 06:00:46 PM (IST) Alirajpur, Madhya Pradesh, India

आवेदन सौंपा, 10 को जाएंगे भोपाल

आलीराजपुर. मप्र लिपिक वर्गीय शासकीय कर्मचारी संघ ने मांगें नहीं माने जाने पर एक बार फिर आंदोलन शुरू करने की घोषणा की है। इसकी शुरुआत 10 सितंबर को वित्तमंत्री जयंत मलैया के मंत्रालय व बंगले का घेराव कर होगी। इसे गिरफ्तार करो आंदोलन का नाम दिया गया है। जिला लिपिक संघ के अध्यक्ष दिलीपसिंह पंवार ने बताया कि मप्र लिपिक कर्मचारी संघ के आह्वान पर 11 सितंबर को सभी जिलों में धरना प्रदर्शन होगा। जो 15 सितंबर तक चलेगा। इसके बाद 16 सितंबर से प्रदेशव्यापी अनिश्चितकालीन आंदोलन किया जाएगा। इसके पहले भी संघ लंबी हड़ताल कर चुका है, लेकिन इस दौरान वित्तमंत्री के साथ भोपाल में हुई बैठक के बाद इसे स्थगित कर दिया गया था। संघ का कहना है कि हमें आश्वासन दिया गया था कि दो कैबिनेट मीटिंग में मांगों पर विचार कर लिया जाएगा। लेकिन अभी तक हमारी मांगों पर विचार नहीं किया गया है और यह कोरा आश्वासन साबित हुआ है,इसलिए एक बार फिर हमें आंदोलन के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। शुक्रवार को जिला मुख्यालय सहित आजादनगर, जोबट,सोंडवा ब्लाक स्तर और लिपिक संघ के पदाधिकारियों ने अपर कलेक्टर ओर तहसील स्तर पर एसडीएम को मुख्य सचिव के नाम से आवेदन सौंपा। इसमें उक्त आंदोलन की सूचना दी गई। साथ ही यह उल्लेख किया गया है कि लिपिक ओर चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की 23 सूत्रीय न्याय संगत मांगो का निराकरण आचार सहिंता के पूर्व हो जाता है तो लिपिक संघ यह आंदोलन वापस ले सकता है। पंवार ने बताया कि जिले से करीब 200 से अधिक महिला पुरुष लिपिक ओर चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी भोपाल जाकर गिरफ्तार करो आंदोलन में शामिल होंगे।
महाविद्यालय में मना शिक्षक दिवस
आलीराजपुर . शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में इस वर्ष भी शिक्षक दिवस कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस अवसर पर महाविद्यालय प्राचार्र्य डॉ. अल्पना बारिया एवं वरिष्ठ प्राध्यापक डॉ. एस.एल.देवड़ा ने मां सरस्वती एवं डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्ण के चित्र पर माल्यार्पण किया। विद्यार्थियों ने शिक्षकों को श्रीफल एवं उपहार से सम्मानित किया। विद्यार्थियों ने शिक्षको के संबंध में अपने विचार रखे। अंकेश रावत, बलराम चौहान, थावरसिंह भिण्डे, पूजा कनेश, रिंकू मौर्य, गोना जायवाल, पूजा तोमर, मयंक कलेश आदि विद्यार्थियों ने अपने विचार व्यक्तकिए। संचालन सूरज प्रतापसिंह, भारतसिंह किराड़ एवंं प्रकाश किराड़ ने किया। महाविद्यालय के प्राध्यापक प्रो. मीना सोलंकी, डॉ. उर्मिला डॉगी, प्रो. एस.एस.मौर्य, डॉ. प्रदीप कनेश, प्रो. सुरेश तोमर, डॉ. कलम चौहान, अतिथि विद्वान एवं कार्यालयीन स्टाफ तथा बड़ी संख्या में विद्यार्थी उपस्थित थे। आभार संदीप स्वरूपसिंह ने माना।

Ad Block is Banned