भारत बंद को लेकर प्रशासन ने अचानक जारी किया यह निर्देश, राजनीतिक दलों में मची खलबली

भारत बंद को लेकर प्रशासन ने अचानक जारी किया यह निर्देश, राजनीतिक दलों में मची खलबली

Prasoon Kumar Pandey | Publish: Sep, 09 2018 11:41:29 PM (IST) | Updated: Sep, 09 2018 11:41:30 PM (IST) Allahabad, Uttar Pradesh, India

सपा मुखिया का निर्देश मिलते ही सपा नेता हुए सक्रीय

इलाहाबाद :कांग्रेस के भारत बंद के आवाह्न को अन्य राजनितिक दलों का साथ मिलने के बाद पूरे जिले में प्रशासनिक अलर्ट जारी कर दिया गया है।कांग्रेस कार्यकर्ता सोशल साइट पर बंद को सफल बनाने की अपील में जुटे है।वही कांग्रेस के बंद के आवाह्न पर अन्य विपक्षी दलों का साथ मिलने में सियासी माहौल गर्मा गया हैं।सपा मुखिया अखिलेश यादव के निर्देश पर प्रदेश भर में सपा कार्यकर्ता सड़क पर उतरने को तैयार है।सपा सहित अन्य विपक्षी पार्टी के कार्यकर्ता बंद में शामिल हो रहे है। जिससे जिला प्रशासन ने देर रात अपील सहित चेतावनी जारी कर दी है।

सपा मुखिया का निर्देश मिलते ही सपा नेता सक्रीय हो गए।समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक सत्यवीर मुन्ना ने देर रात पार्टी के कार्यकर्ताओं से अपील करते हुए कहा कि भाजपा गठबंधन सरकार में फैली अराजकता व अनाचार ध्वस्त बिजली ट्रान्सफार्मर की समस्या खेती किसानी पेट्रोल डीज़ल की बढ़ी कीमतें व्यापार की दुर्दशा व शोषण के ख़िलाफ़ प्रदर्शन की अपील की वही कांग्रेसियों ने रफाल डील महँगाई सहित अन्य मुद्दों पर सरकार को घेरने के लिए आम लोगो को घर से निकलने का आवाह्न किया।

एससी एसटी के बंद के दौरान देश के अलग अलग हिस्सों में हुए हंगामो से सतर्क प्रशासन कोई भी चूक नही होने देना चाहती है।देर रात जिले आलाधिकारियों ने बैठक कर शख्त निर्देश जारी किये।साथ ही सोशल साईट पर राजनितिक दलों के कार्यकर्ताओं द्वारा की जाने अपील पर भी नजर रखने को कहा गया ।जिले में शान्ति व्यवस्था बनी रहे इसके लिए सभी जिम्मेदार अधिकारीयों सहित थानों को निर्देश दिए गये है। जिले की सीमा में बाहर से आने वाले लोगो पर भी नजर रखी जा रही है।बाहर से आने वाले राजनितिक दलों के कार्यकर्ताओं पर भी नजर रखने के निर्देश दिए गये है।

राजनीतिक दलों की सक्रियता को देखते हुए भारत बंद की सूचना पर जिला प्रशासन ने नागरिकों से किसी भी बहकावे में न आने की अपील की है। और जनपद एवं शहर में शांति बनाए रखने का अनुरोध किया है। जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने कहा कि शहर और जिले में शांति और कानून व्यवस्था से किसी प्रकार का खिलवाड़ नहीं करने दिया जाएगा। किसी भी तरह का उपद्रव करने वालों के खिलाफ कड़ाई से निपटा जाएगा। कोई भी किसी तरह की हिंसा और जन धन को हानि पहुंचाने वालों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी। और माननीय सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के अनुसार शासकीय संपत्ति को क्षति पहुंचाने वालों से उसकी भरपाई करते हुए दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।

Ad Block is Banned