लगातार हो रही घटनाओं के बाद एक्शन में आए जिले के कप्तान

लगातार हो रही घटनाओं के बाद एक्शन में आए जिले के कप्तान

Sarveshwari Mishra | Publish: Jun, 14 2018 12:36:27 PM (IST) Allahabad, Uttar Pradesh, India

जारी किया यह निर्देश पुलिस महकमे में मचा हड़कंप

इलाहाबाद. धूमनगंज थाना अंतर्गत हुई घटना के बाद एक बार फिर जिले में कानून व्यवस्था पर सवाल खड़ा हो गया है। साथ ही योगी सरकार की जीरो टॉलरेंस की नीति पर सवालिया निशान लगने लगे है। प्रदेश सरकार के डिप्टी सीएम सहित दो कैबिनेट मंत्री के गृह नगर में लगातार हो रही हत्याओं सहित अन्य आपरधिक घटनाओं से आम आदमी दहशत में है। एक के बाद एक हत्याओं ने पूरे जिले को दहला कर रख दिया है। ऐसे में भारी दबाव में आये पुलिस अधिकारी अब शख्त होते दिख रहे है। गैंग वार की घटना के बाद जिले के कप्तान की सख्ती देख और उनके फरमान से पूरे महकमे में हड़कम्प मच गया है।

 


हत्याकांड के बाद कप्तान नितिन तिवारी पूरे एक्शन में है। कप्तान ने एक बार फिर पुलिस कर्मियों को इमानदारी से काम करने की हिदायत दी। हत्याकांड के बाद लगातार पुलिस पर बढ़ते दबाव के बीच एसएसपी मिडिया से मिले और कहा कि सभी थाना प्रभारियों एवं विवेचना करने वाले सब इंस्पेक्टरों को मै बता देना चाहता हूॅ, कोई भी पुलिस कर्मी अपने जिम्मेदारी सही तरीके से निर्वहन करे, नही तो कार्यवाही होगी। उन्होंने कहा की सिपाही की जिम्मेदारी होती है, की वह गश्त करे। और इंस्पेक्टर की जिम्मेदारी है, कि किसी भी आपराध की विवेचना पूरी करके अपराधियों जेल भेजे। सभी विवेचकों को संदेश देना चाहता हूं कि अपनी ड्यूटी इमानदारी से निभांए। लापरवाही जहां उजागर हुई तो कार्रवाई भी कड़ी की जाएगी।

 

 

वहीं नितिन तिवारी ने कहा कि जिले के सभी थानों में किसी भी समय कोई भी अधिकारी अचानक रात में निरीक्षण करेगा। वहीं रात्रि विश्राम भी करेगा। इसके साथ थाने पर आने वाले फरियादियों की समस्या सुनी जायेगी और तत्काल उसका निस्तारण भी करने का पूरा प्रयास किया जाएगा। निरीक्षण के दौरान लापरवाही करने वाले पुलिस कर्मचारी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जांच भी गोपनीय ढंग से कराई जायेगी और दोषी पाए जाने पर उन्हें निलम्बित किया जाएगा।

 

बता दें कि 10 मई को हुए अधिवक्ता हत्याकांड से प्रदेश भर में हड़कंप मच गया था। जिसके बाद तत्कालीन एसएसपी आकाश कुलहरि को स्थांतरित करके नितिन तिवारी को जिले की कमान सौंपी गई थी। नितिन तिवारी तेजतर्रार आईपीएस अधिकारी माने जाते हैं। ऐसे में लगातार हो रही घटनाओं के बाद पुलिस महकमे पर भारी दबाव है। और अब औचक निरीक्षण के निर्देश के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मचा है।

By- Prasoon Pandey

Ad Block is Banned