अतीक अहमद पर तेजी से कस रहा पुलिस का शिकंजा, रंगदारी और धमकी के मामले में फिर दर्ज हुआ मुकदमा

देवरिया जेल कांड को लेकर अतीक अहमद समेत उनके पांच लोगों के खिलाफ प्रयागराज के धूमनगंज थाने में दर्ज हुआ मुकदमा। प्रॉपर्टी डीलर मो. जैद ने 22 नवंबर 2019 उन्हें अगवा कर अतीक अहमद द्वारा देवरिया कांड की पैरवी छोड़ने और 15 लाख रुपये रंगदारी ना देने पर जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है।

प्रयागराज. उत्तर प्रदेश की पुलिस यूपी में कानून राज कायम करने के लिए अपराधियों को बख्शने के मूड में नहीं है। खासतौर से कानपुर कांड के बाद पुलिस ने बाहुबली, माफिया और बड़े अपराधियों पर शिकंजा और कस दिया है। बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के बाद पुलिस बाहुबली पूर्व सांसद अतीक अहमद के आपराधिक साम्राज्य को ध्वस्त करने में जुटी है। अतीक समेत उनके पांच लोगों के खिलाफ प्रयागराज पुलिस ने रंगदारी और धमकी के मामले में प्रॉपर्टी डीलर मो. जैद की शिकायत के बाद फिर एक मुकदमा दर्ज किया है।

 

प्रॉपर्टी डीलर मोहम्मद जैद ने अतीक अहमद के गुर्गों पर फिर से अगवा कर 15 लाख रुपए की रंगदारी मांगने का आरोप लगाया है। उसका दावा है कि उसपर देवरिया जेल कांड की पैरवी से पीछे हटने का दबाव डाला जा रहा है। पैरवी करना ना छोड़ने पर हत्या की धमकी दी गई है। इस मामले में शुक्रवार की रात धूमनगंज निवासी मोहम्मद जैद ने अतीक अहमद, उसके ड्राइवर मोहम्मद उमर उर्फ मक्खी, आशिक उर्फ मल्ली व अली अहमद और सद्दाम के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया।

 

बता दें की प्रयागराज के बमरौली, धूमनगंज निवासी मोहम्मद जैद ने खुद को धूमनगंज से अगवा कर देवरिया जेल मैं अतीक अहमद के पास ले जाए जाने व अतीक और उनके लोगों द्वारा पिटाई कर रंगदारी मांगने का आरोप लगाते हुए अतीक अहमद समेत 15 लोगों के खिलाफ धूमनगंज थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। इसी मामले में जैद की ओर से शुक्रवार की रात अतीक समेत पांच लोगों के खिलाफ फिर एक मुकदमा धूमनगंज थाने में दर्ज कराया गया।

 

उसका आरोप है की 22 नवंबर 2019 को जब वह अपने बहनोई सुफियान अहमद के साथ ससुराल जा रहा था उसी समय एक लग्जरी गाड़ी में सवार असलहों से लैस मल्ली, मक्खी, अली अहमद और सद्दाम आदि ने घेर कर उसे अगवा कर लिया। बमरौली उपरहार के पास ले जाकर जेल से अतीक अहमद और जैद की बात कराई गई। जैद का दावा है कि उसे देवरिया जेल केस की पैरवी बंद करने और 15 लाख रुपए रंगदारी न देने पर जान से मारने की धमकी दी गई।

 

बताते चलें की देवरिया जेल कांड के बाद कोर्ट के आदेश पर अतीक अहमद को गुजरात की अहमदाबाद जेल भेज दिया गया। इसके बाद से पुलिस लगातार उनकी गई से जुड़े लोगों और करीबियों के खिलाफ कार्रवाई कर रही है। पुलिस को इस मामले में बड़ी सफलता तब हाथ लगी जब अतीक का भाई अशरफ पुलिस के हत्थे चढ़ गया। इसके बाद पुलिस ने अतीक अहमद की वो राइफल और पिस्टल भी बरामद कर ली जिसकी पुलिस को सालों से तलाश थी।

Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned