अलवर : अपने बच्चे, पत्नी और ससुर पर चाकू से हमला करने के बाद गैस सिलेण्डर से घर को उड़ाने की फिराक में था आरोपी

अलवर : अपने बच्चे, पत्नी और ससुर पर चाकू से हमला करने के बाद गैस सिलेण्डर से घर को उड़ाने की फिराक में था आरोपी

Lubhavan Joshi | Updated: 18 Jul 2019, 09:13:01 AM (IST) Alwar, Alwar, Rajasthan, India

शहर के महल चौक के पास चेलापाड़ी मोहल्ले की घटना, आरोपी सिलेण्डर से घर को उड़ाने जा रहा था।

अलवर. शहर के चेलापाड़ी मोहल्ले में बुधवार तडक़े दामाद ने अपने बेटे, पत्नी और ससुर का गला रेत दिया। चाकू से खुद का गला और पेट काट लिया। दामाद और ससुर को जयपुर रैफर किया गया है। जबकि घायल मां-बेटे सामान्य अस्पताल में भर्ती है। पुलिस ने हमलावर की पत्नी प्रेमलता के पर्चा बयान पर मामला दर्ज कर लिया।

जानकारी के अनुसार सालपुरी निवासी विनोद (27) पुत्र अशोक जोगी की आठ साल पहले चेलापाड़ी मोहल्ला निवासी प्रेमलता (25) पुत्री प्रेमनारायण से विवाह हुआ। ससुराल पक्ष दहेज के लिए प्रताडि़त करने लगा तो प्रेमलता ढाई साल पहले बेटे प्रिंस के साथ मायके आ गई और ससुराल वालों पर न्यायालय में केस कर दिया। न्यायालय ने चार हजार रुपए माहवार गुजारा भत्ता देने के आदेश दे रखे हैं। पुलिस के अनुसार मंगलवार शाम विनोद ससुराल आया और पत्नी से अलग किराए के घर में रहने की बात की। रात को ससुराल में रुके विनोद ने तडक़े 5 बजे छत पर सो रहे 6 साल के बेटे प्रिंस का गला चाकू से रेत दिया। आवाज सुनकर जागी पत्नी प्रेमलता का गला भी काट दिया। चीखने की आवाज सुनकर प्रेमनारायण छत पर पहुंचा तो विनोद ने प्रेमनारायण के गले, सीने, गर्दन और पीठ में ताबड़तोड़ वार किए। बाद में विनोद ने खुद का गला व पेट काट लिया। शोर-शराबा सुनकर पड़ोसी एकत्रित हो गए। खून से लथपथ प्रेमनारायण, प्रेमलता और प्रिंस को बाइक से सामान्य अस्पताल पहुंचाया। जबकि विनोद को पुलिस अस्पताल ले गई।

चाचा ससुर के पीछे भी भागा

प्रेमनारायण का छोटा भाई पैर से विकलांग राजू भी उसी घर में रहता है। आवाज सुनकर राजू भी छत पर पहुंचा तो विनोद उसके पीछे भी चाकू लेकर भागा, लेकिन वह पड़ोस की छत पर कूदकर भाग गया। घर से दूर किराए के मकान में रहने वाले प्रेमलता के भाई योगेश के अनुसार लम्बे समय बाद विनोद को अचानक आया देख वह चौंक गया था। लेकिन घर आए योगेश को विनोद ने झांसा देकर वहां से वापस भेज दिया।

शौचालय ने बचाई सास की जान

जब विनोद ने छत पर बेटे और पत्नी का चाकू से गला काटा तो तब सास इमरती शौचालय में थी। इस वजह से विनोद उस पर हमला नहीं कर सका।

गैस सिलेण्डर से घर को उड़ाने की कोशिश

बेटे, पत्नी और ससुर का चाकू से गला काटने के बाद हमलावर विनोद ने खुद को कमरे में बंद कर लिया और कमरे में रखी गैस का रेगूलेटर खोलकर नली हटा दी। पुलिस ने गेट तोडकऱ उसे बाहर निकाला। गनीमत रही कि सिलेण्डर ने आग नहीं पकड़ी, अन्यथा विस्फोट से पूरा घर ही उड़ जाता।

मेरे बच्चे को बचा लो...

खून से लथपथ प्रेमलता गले को हाथ से दबाकर गिरती-पड़ती घर के बाहर आकर बार-बार मुझे नहीं मेरे बच्चे को बचाओ की गुहार लगाती रही।

चाकू छिपाकर लाया था विनोद

विनोद स्कीम-2 स्थित एक जनरल स्टोर पर काम करता है और पत्नी, बेटे तथा ससुराल वालों को मारने के लिए ही धारदार चाकू छिपाकर लाया था।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned