अलवर शहर में रह रहे 20 हजार लोगों को नहीं है शहर की सरकार चुनने का हक, जानिए क्या है कारण

अलवर शहर में रह रहे 20 हजार लोगों को नहीं है शहर की सरकार चुनने का हक, जानिए क्या है कारण

Hiren Joshi | Publish: Jun, 25 2019 02:37:37 PM (IST) Alwar, Alwar, Rajasthan, India

अलवर शहर के 20 हजार लोगों को नगर परिषद चुनाव में वोट देने का अधिकार नहीं है।

अलवर. शहर के करीब 20 हजार से अधिक मतदाताओं को शहर की सरकार चुनने के लिए होने वाले चुनावों में वोट डालने के अधिकार का इंतजार है। ये मतदाता सूर्य नगर, बेलाका, वैशाली नगर, भूगोर व अपनाघर शालीमार क्षेत्र में रहते हैं। लेकिन उनकी कॉलोनियां नगर परिषद क्षेत्र में शामिल नहीं है। हाल ही सांख्यिकी विभाग के जरिए सूर्य नगर व बेलाका को नगर परिषद क्षेत्र शामिल करने का प्रस्ताव भेजा गया है लेकिन सरकार ने उसे मंजूर नहीं किया है।
सूर्य नगर, वैशाली नगर यूआईटी की प्रमुख आवासीय कॉलोनी हैं। पानी की लाइन जलदाय विभाग की देखरेख में हैं। यूआईटी के सामुदायिक भवन हैं। विकास भी यूआईटी के जरिए होता हैं। सफाई नगर परिषद कराती है। फिर भी कॉलोनी नगर परिषद क्षेत्र में शामिल नहीं है।

अपनाघर शालीमार में कई हजार की आबादी

अपनाघर शालीमार, लॉ्डर्स सिटी होम सहित अनेक सोसायटी में कई हजार की आबादी है। सूर्य नगर, वैशाली नगर, शालीमार, भूगोर, बेलाका सहित अनेक जगहों के लोगों ने जिला कलक्टर, नगर परिषद आयुक्त सहित सरकार को ज्ञापन देकर उनकी कॉलोनियों को नगर परिषद क्षेत्र में शामिल करने की मांग की है ताकि वे शहरी सरकार चुनने में भागीदारी निभा सकें।

अभी नए क्षेत्र शामिल नहीं

इस बार नए क्षेत्रों को नगर परिषद वार्डों में शामिल करने के आदेश नहीं मिले हैं। सांख्यिकी विभाग ने दो प्रस्ताव लिए हैं, लेकिन उनको मंजूरी नहीं मिली है। फिलहाल पुराने क्षेत्रों के 50 वार्डों को ही 65 वार्डों में तब्दील करने का कार्य हो रहा है।

फतेह सिंह मीणा, आयुक्त, नगर परिषद अलवर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned