कोरोना के कारण रावण दहन और रामलीला के आयोजन पर संकट, मेलों से वंचित रह सकते हैं लोग

कोरोना के कारण इस बार रावण दहन कार्यक्रम के आयोजन पर संशय है, पहले भी जगन्नाथ महोत्सव, करणीमाता, भर्तृहरि व पाण्डुपोल मेले सहित कई अन्य आयोजन नहीं हुए

By: Lubhavan

Published: 17 Sep 2020, 07:34 AM IST

अलवर. इस बार रावण दहन व उसके पूर्व रामलीला के सार्वजनिक प्रदर्शन पर कोरोना का संकट असर डालने की तैयारी है। कोरोना अनलॉक गाइड लाइन के चलते अभी जिले में किसी भी आयोजन में अधिकतम एक साथ 50 व्यक्तियों के एकत्र हो पाने की छूट है। सरकार की ओर से नई गाइड लाइन में कोई बडा बदलाव नहीं हुआ तो संभवत: इस बार अलवर सहित जिले में विभिन्न स्थानों पर रावण दहन व उससे पूर्व रामलीला के सार्वजनिक आयोजन नहीं हो पाएंगे।जिले में कोरोना संक्रमण मामलों में वृदिध को देखते हुए अभी बडे धार्मिक आयोजन, सभा, जुलूस आदि की अनुमति नहीं है।

धार्मिक स्थलों को खोलने की अनुमति तो मिली है, लेकिन वहां भी कोरोना प्रोटोकॉल के तहत सोशल डिस्टेसिंग के साथ सीमित संख्या में ही दर्शनार्थियों की अनुमति दी गई है। ऐसे में आगामी दिनों में विभिन्न स्थानों पर सार्वजनिक रूप से होने वाले रामलीला आयोजन व दशहरे पर रावण दहन कार्यक्रम होने की संभावना अभी नगण्य है। हालांकि सरकार की ओर से आगामी दिनों में अनलॉक गाइडलाइन में कोई बडा बदलाव नहीं होता है तो इस बार लोगों को ऐसे आयोजनों व मेलों को देख पाने से वंचित रहने की पूरी संभावना है।

पहले भी जिले में कई मेले नहीं हो पाएकोरोना के चलते इस साल जिले के सबसे बडे जगन्नाथ महोत्सव का मंदिर परिसर में ही प्रतीकात्मक आयोजन हो पाया था, इसके अलावा बाला किला परिसर स्थित करणीमाता मंदिर पर हर साल नवरात्र में भरने वाला मेला, भर्तृहरिधाम पर भरने वाला लक्खी मेला, सरिस्का स्थित पाण्डुपोल हनुमान मंदिर पर भरने वाला मेले सहित कई अन्य बडे आयोजन नहीं हो सके हैं।अभी कोरोना संक्रमण से बचाव जरूरीकोरोना संक्रमण से बचाव जरूरी है, इस कारण भीड भरे आयोजनों की अनुमति नहीं है। अभी एक साथ 50 व्यक्तियों से ज्यादा के एक साथ एकत्र होने की अनुमति नहीं है। रामलीला व रावण दहन जैसे कार्यक्रमों की अभी अनुमति नहीं दी गई है।उमेदीलाल मीना अतिरिक्त जिला कलक्टर शहर अलवर

coronavirus
Lubhavan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned