उधारी के 21 लाख रुपए नहीं देने पर दी जान

मृतक के परिजन धरने पर बैठे : आरोपी को पकडऩे की मांग

By: Shyam

Published: 08 Dec 2019, 02:33 AM IST

अलवर. रैणी कस्बा निवासी एक जने ने उधारी के इक्कीस लाख रुपए नहीं देने पर विषाक्त पदार्थ खाकर जान दे दी। मृतक के परिजन आरोपी को पकडऩे की मांग को लेकर ग्रामीणों के साथ रैणी चिकित्सालय में शव को लेकर धरने पर बैठ गए।
रैणी कस्बा निवासी मृतक के बेटे अशोक कुमार ने आरोप लगाया कि उसके पिताजी गंगाराम बैरवा पशु चिकित्सा विभाग में कम्पाउन्डर के पद से अक्टूबर माह में सेवानिवृत हुए थे। उसके पिता ने बसवा क्षेत्र के सुधारनपाडा निवासी धर्मेन्द्र सिंह बन्ना को 21 लाख रुपए उधार दे रखे थे। जब धर्मेन्द्र सिंह से रुपए मांगे तो वह मारने की धमकी देकर डराता था। जिसमें मेरी मां भी सहयोगी थी। जिससे व्यथित होकर मेरे पिता ने शुक्रवार दोपहर को जहर खा लिया। इसके बाद उपचार के लिए परिजन रैणी अस्पताल में ले गए, जहां से चिकित्सक ने अलवर रैफर कर दिया। अलवर सामान्य अस्पताल में शुक्रवार शाम को मृत्यु हो गई। पुलिस ने शनिवार को गंगाराम का पोस्टमार्टम करा शव परिजनों को सौंप दिया। मृतक के परिजन अलवर से पोस्टमार्टम करा रैणी पहुंचे और दोपहर दो बजे रैणी चिकित्सालय परिसर में आरोपी को पकडऩे की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए। धरने की सूचना पर डीएसपी अंजली मीणा पहुंची और मृतक के परिजनों से समझाइश की। लेकिन वे नहीं माने। बाद में विधायक जौहरी लाल की समझाइश पर मामला शांत हुआ।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned