अलवर: बालाकिला क्षेत्र में गार्डों का ‘जंगलराज’, अपने मिलने-जुलने वालों को प्रवेश दे रहे और बाकी को जाने से रोक रहे

- प्रतापबांध चौकी से ऊपर बालाकिला मार्ग पर घूमने पर प्रतिबंध है लेकिन गार्ड अपने परिचितों को नियम तोड़कर प्रवेश दे रहे हैं

 

By: Lubhavan

Published: 29 Sep 2020, 10:36 AM IST

अलवर. बालाकिला क्षेत्र में पैंथर सहित अन्य जंगली जानवरों का मूवमेंट बढऩे के कारण वन विभाग ने यहां सुबह-शाम लोगों के घूमने पर पाबंदी लगा दी है, लेकिन यहां आज भी गार्डों का ‘जंगलराज’ चल रहा है। अधिकारियों के आदेश और जंगली जानवरों के खतरे की परवाह किए बिना गार्डों ने अपने मिलने-जुलने वालों को यहां घूमने की छूट दे रखी है।

शहर के सैकड़ों लोग सुबह और शाम को प्रताप बांध चौकी से ऊपर बालाकिला रोड पर घूमने जाते थे, लेकिन पिछले कुछ माह से यहां अचानक से पैंथर और अन्य जंगली जानवरों आवागमन बढ़ गया है। जिसे देखते हुए वन विभाग ने बालाकिला क्षेत्र में घूमने पर रोक लगा दी है। प्रतापबांध चौकी गेट बंद करवा दिया है। जिससे कि लोग ऊपर घूमने नहीं जा सके, लेकिन चौकी पर तैनात गार्ड अपनी मनमर्जी चला रहे हैं। ये गार्ड रोजाना सुबह अपने मिलने-जुलने वाले दर्जनों लोगों को बालाकिला क्षेत्र में घूमने के लिए गेट खोल प्रवेश दे रहे हैं, जबकि बाकी लोगों को अधिकारियों के आदेशों का हवाला देते हुए रोक देते हैं।

रोजाना झगड़े की नौबत

प्रतापबांध चौकी पर तैनात गार्ड जब अपने मिलने-जुलने वालों को पैदल व दुपहिया वाहनों से बालाकिला क्षेत्र में प्रवेश देते हैं और अन्य लोगों को रोकते हैं। रोजाना वहां झगड़े की नौबत बनी रहती है। लोग इसका विरोध करते हैं तो गार्ड किसी को बालाकिला क्षेत्र के मंदिर का पुजारी बताते हैं तो किसी को स्टाफ। सोमवार को भी प्रतापबांध चौकी के गेट पर प्रवेश को लेकर कुछ लोगों को गार्डों के साथ विवाद हुआ।

हो सकता है बड़ा हादसा

सरिस्का में बाघों का कुनबा बढऩे के कारण काफी पैंथर सरिस्का छोडकऱ बालाकिला क्षेत्र की तरफ आ गए हैं। इस क्षेत्र में लोगों को पिछले कुछ समय से लगातार पैंथर दिख रहा है। ऐसे में बालाकिला क्षेत्र में घूमने जाने वाले लोगों पर कभी भी पैंथर का हमला हो सकता है, लेकिन इस खतरे को वन विभाग के गार्ड काफी हल्के में ले रहे हैं।

प्रवेश पर रोक

बालाकिला क्षेत्र में पैंथर के मूवमेंट के कारण लोगों के प्रवेश पर रोक लगाई गई है। यदि वहां लोगों की आवाजाही हो रही है तो उसे दिखवा लेते हैं।
- सुदर्शन शर्मा, डीएफओ सरिस्का बाघ परियोजना, अलवर

Lubhavan Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned