यहां रेलवे फाटक बंद हुआ तो बन गया अवैध वाहन स्टेण्ड

यहां रेलवे फाटक बंद हुआ तो बन गया अवैध वाहन स्टेण्ड

Rajeev Goyal | Publish: Jan, 02 2018 11:54:11 AM (IST) | Updated: Jan, 02 2018 12:23:02 PM (IST) Alwar, Rajasthan, India

अलवर कालीमोरी फाटक के बंद होने से लोगों के सामने आवागमन को लेकर समस्या खड़ी हो गई, वहीं, शहर में प्राइवेट वाहनों का एक और अवैध स्टैण्ड खुल गया है।

यहां कालीमोरी फाटक बना टैम्पो व ई-रिक्शा स्टैण्ड

कालीमोरी फाटक के बंद होने से फाटक के आस-पास टैम्पो व ई-रिक्शा खड़े होने लगे हैं। इससे यह स्थान अब इनका स्टैण्ड लगने लगा है। बाकी कसर प्राइवेट बस ऑपरेटरों ने पूरी कर दी है। वे भी टैम्पो व ई-रिक्शा से प्रतिस्पर्धा करते हुए यहां खड़े होने लगे हैं। इससे कालीमोरी व आस-पास के क्षेत्र में हादसे की आशंका बन गई है। खास बात यह है कि फाटक से चंद दूर ही पुलिस चौकी है, जिस पर हमेशा दो-चार पुलिसकर्मियों की ड्यूटी रहती है। पास में ट्रेफिक पुलिस का भी पॉइन्ट है। ये पुलिसकर्मी इस मार्ग पर चलने वाले दुपहिया वाहनों की तो जांच करते हैं, लेकिन इन्हें नजरों के सामने चल रहा अवैध स्टैण्ड नजर नहीं आता। पुलिस की मूक सहमति से यहां वाहनों का जमावड़ा दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। स्थिति ये है कि वाहनों के चलते यहां सड़क भी सिकुड़कर छोटी रह गई है।


फाटक बंद हुआ तो मिलने लगी सवारियां


कालीमोरी फाटक के आस-पास टैम्पो व ई-रिक्शा के जमावड़े का मुख्य कारण सवारियों का मिलना है। दरअसल, फाटक के बंद होने से पटरी पार के वाशिन्दों को छोटे-छोटे काम के लिए लम्बा फेरा लगाकर शहर में आना पड़ता है। इनके यहां आने वाले नाते-रिश्तेदारों को भी परेशानी उठानी पड़ती है। एेसे में यहां टैम्पो-ईरिक्शा वालों का धंधा चल निकला है। उन्हें यहां आसानी से सवारियां उपलब्ध होने लगी हैं।


अण्डर पास बने तो मिटे परेशानी


पटरीपार के लोगों के अनुसार उनकी इस परेशानी का समाधान अण्डरपास से ही संभव है। पटरीपार कई कॉलोनियां हैं, जिनमें लाखों लोग निवास करते हैं। उन्होंने बताया कि सरकार ने यहां दो ओवरब्रिज तो बना दिए, लेकिन इनमें से एक भी उनके काम का नहीं है। जितना समय उन्हें ब्रिज पार करने में लगता है, उतने में वे शहर में एक कोने से दूसरे कोने में पहुंच सकते हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned