बजट से प्रॉपर्टी व्यवसाय को मिलेगी राहत!


पटरी पर आ सकेंगे ग्रुप हाउसिंग के लम्बित प्रोजेक्ट

अलवर. औद्योगिक व ग्रुप हाउसिंग की दृष्टि से अलवर बड़ी जगह है। यहां बड़ी संख्या में औद्योगिक इकाइयों से सरकार को प्रदेश में दूसरे नम्बर पर सबसे अधिक राजस्व मिलता है। जिसे ध्यान में रखते हुए सरकार ने बजट में अलवर जिले में नए औद्योगिक क्षेत्र के विकास की घोषणा की है। नई औद्योगिक इकाइ आने से निवेश आने से रेाजगार के अवसर भी बढ़ेंगे।
फ्लैट बेचना व खरीदना आसान होगा
सरकार ने बजट में स्पष्ट नीमराणा-भिवाड़ी का जिक्र करते हुए कहा है कि यहां ग्रुप हाउसिंग की विसंगतियों को दूर किया जाएगा। जिससे साफ होता है कि यहां बिल्डर को राहत मिल सकती है और खरीददार को भी आसानी होगी। एक तरह से फ्लैट बेचना व खरीदना आसान हो सकेगा। ग्रुप हाउसिंग के लम्बित प्रोजेक्ट वापस पटरी पर आएंगे। उद्योग लगेंगे तो बढ़ेगा निवेश: नीमराणा, भिवाड़ी, बहरोड़, शाहजहांपुर व अलवर शहर के अलावा नया औद्योगिक क्षेत्र स्थापित किया जाएगा। जिस जगह नए उद्योग लगेंगे वहां के आसपास के क्षेत्र का विकास हो सकेगा।
डीएलसी दर १० प्रतिशत कम
सरकार ने बजट में डीएलसी दरों को १० प्रतिशत कम किया है। जिससे निश्चित रूप से प्रोपर्टी खरीद-बेचने का क्रम ऊपर आएगा। जो फिलहाल मंदी के कारण बहुत नीचे जा चुका है। लेकिन, सरकार ने एक प्रतिशत स्टाम्प ड्यूटी बढ़ा दी है। जबकि मौजूदा परिस्थितियों को देखते हुए डीएलसी दरें २० से २५ प्रतिशत कम करने की जरूरत थी।

Pradeep Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned