जंगल में शुभमंगल, सरिस्का में एक और शावक दिखा, बाघों का हुआ कुनबा 23

अलवर. नारायणपुर. सरिस्का बाघ परियोजना के लिए मंगलवार शुभमंगल लेकर आया। इस दिन सरिस्का बाघ परियोजना में बाघिन एसटी 14 का एक और नया शावक कैमरा ट्रैप में दिखाई दिया। अब तक बाघिन एसटी- 14 के बारी-बारी से तीन शावक दिखाई दे चुके हैं।

By: Prem Pathak

Updated: 02 Feb 2021, 11:55 PM IST

अलवर. नारायणपुर. सरिस्का बाघ परियोजना के लिए मंगलवार शुभमंगल लेकर आया। इस दिन सरिस्का बाघ परियोजना में बाघिन एसटी 14 का एक और नया शावक कैमरा ट्रैप में दिखाई दिया। अब तक बाघिन एसटी- 14 के बारी-बारी से तीन शावक दिखाई दे चुके हैं। नया शावक दिखाई देने के साथ ही सरिस्का में बाघों का कुनबा बढकऱ 23 तक पहुंच गया है, जिनमें 16 वयस्क बाघ एवं 7 शावक शामिल हैं।

सरिस्का में बाघों के कुनबे में दो महीने से भी कम समय में एक बार फिर वृद्धि हुई। इससे पूर्व गत एक दिसंबर को कैमरा ट्रैप में बाघिन एसटी-14 के पहले शावक की फोटो देखी गई थी, तब यह बाघिन एक शावक के साथ कैमरे में ट्रैप हुई थी। इसके बाद गत 14 दिसम्बर को यही बाघिन दो शावकों के साथ कैमरे में ट्रैप हुई, तब सरिस्का प्रशासन को दूसरे शावक का पता चला। वहीं मंगलवार को डाबली जंगल में बाघिन एसटी 14 तीन शावकों के साथ घूमती नजर आई।

वर्ष 2021 सरिस्का के लिए खुशियां लाया
वर्ष 2020 सरिस्का के लिए अब तक खुशियों भरा रहा और उस साल बाघिन एसटी-10 का एक शावक, बाघिन एसटी-12 के तीन शावक तथा साल के अंत में बाघिन एसटी-14 के दो शावक दिखे। वहीं वर्ष 2021 में बाघिन एसटी-14 का मंगलवार को पहला शावक दिखाई दिया है। सरिस्का टाइगर रिजर्व में अब टाइगरों का कुनबा बढकर 23 हो गया है।

मॉनिटरिंग में एक-एक कर दिखे शावक

बाघिन एसटी 14 पहले एक शावक के साथ कैमरे में ट्रेप हुई थी। इसके बाद सरिस्का प्रशासन ने बाघिन एसटी 14 की सघन मॉनिटरिंग बढ़ा दी, नतीजतन कैमरा ट्रैप में इसी बाघिन का एक और शावक दिखाई दिया। बाद में सरिस्का प्रशासन ने बाघिन की सघन मॉनिटरिंग के साथ ही कैमरों की संख्या भी बढ़ा दी। कैमरे बढ़ाने का लाभ यह हुआ कि बाघिन एसटी-14 का एक और शावक कैमरा ट्रैप में दिखाई दे गया। इसी के साथ ही सरिस्का प्रशासन ने भी बाघिन एसटी-14 के तीन शावकों की पुष्टि की है।

बाघिन एसटी-14 का विचरण विस्थापित गांवों में

बाघिन एसटी-14 का विचरण सरिस्का के कोर एरिया में रहा है। इस क्षेत्र से पिछले दिनों ही ग्रामीणों के परिवारों को विस्थापित कराया है। सरिस्का अभयारण्य क्षेत्र के कोर क्षेत्र डाबली ग्राम का पूर्व में विस्थापन तथा सुकोला के 10 परिवारों के विस्थापन से बाघिन एसटी 14 ने इस क्षेत्र को सुरक्षित महसूस कर अपनी टैरेटरी बनाई।

बाघिन एसटी-14 का तीसरा शावक दिखा
बाघिन एसटी- 14 का तीसरा शावक कैमरा ट्रैप में दिखाई दिया है। इससे पूर्व दिसम्बर में इसी बाघिन के दो शावक कैमरा ट्रैप में दिखाई दिए थे। सरिस्का में अब बाघों का कुनबा बढकऱ 23 पहुंच गया है।

बाला किला में भी दिख चुका बाघ

अलवर के समीपवर्ती बाला किला क्षेत्र में भी पिछले दिनों ही बाघ एसटी-18 पर्यटकों को दिखाई दिया। सरिस्का में बाघों का कुनबा बढऩे और बाला किला में लंबे समय बाद पर्यटकों को बाघ दिखना जिले के पर्यटन के लिए शुभ संकेत हैं। बाघों के चलते सरिस्का में देश विदेश के पर्यटक बड़ी संख्या में आ रहे हैं, वहीं बाघ दिखने के बाद अलवर बफर रेंज स्थित बाला किला क्षेत्र में भी पर्यटकों की संख्या में वृद्धि की उम्मीद जगी है।

आरएन मीणा
क्षेत्र निदेशक, सरिस्का बाघ परियोजना

Prem Pathak Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned