अलवर का ऐसा ई-रिक्शा जिसपर बिकते हैं गोल-गप्पे, एक फोन पर ही मिल रहे हैं गोल-गप्पे

अलवर का ऐसा ई-रिक्शा जिसपर बिकते हैं गोल-गप्पे, एक फोन पर ही मिल रहे हैं गोल-गप्पे

Prem Pathak | Publish: Apr, 17 2018 04:33:10 PM (IST) Alwar, Rajasthan, India

अलवर में अब गोल-गप्पे व अन्य फास्ट फूड ई-रिक्शा पर भी बिकना शुरु हो गए हैं।

अलवर. समय के साथ अलवर शहर के युवा पढ़ लिखकर नए एप बनाकर कुछ नया करने में लगे हुए हैं। लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं जो भले ही ज्यादा पढ़ लिख नहीं पाए हो लेकिन अपने दिमाग का उपयोग अच्छी तरह से करना जानते हैं। ऐसे ही एक शख्स है अंबेडकर चौराहा निवासी दौलत । जो ई रिक्शा को ठेली बनाकर उसका उपयोग कर रहे हैं। वो अपनी ठेली पर गोलगप्पे, चाट पकौड़ी, कचौरी सब लेकर चलते हैं। इससे सबसे ज्यादा फायदा महिलाओं को हो रहा है जिन्हें एक फोन पर बहुत ही आसानी से गोलगप्पे खाने को मिल जाते हैं। ईरिक्शा का ठेली वाला यह रूप लोगों को बहुत पसंद आ रहा है।

म्यूजिक सिस्टम व पंखा भी लगाया

शहर में अभी तक ई रिक्शा या तो सवारी के लिए काम आ रहे हैं, या फिर सामान की लोडिंग के। अंबेडकर चौराहा निवासी दौलत पिछले दस सालों से चौराहे पर गोलगप्पे बेचता है। ठेली को इधर उधर ले जाने के लिए पैदल ही उसके साथ चलना पड़ता है। इससे काफी थकान हो जाती हैं। इसी बात को ध्यान में रखते हुए अपनी बचत के पैसों से ईरिक्शा खरीद लिया और अब इसे ठेली के रूप में काम में ले रहा है। इसमें म्यूजिक सिस्टम व सोलर पंखा भी लगवाया हुआ है। इस नए प्रकार की ठेली मेें गोलगप्पे के अलावा, पपडी, टिकिया आदि की बिक्री भी की जा रही है। शहर के भगतसिंह चौराहे पर ईरिक्शा वाली ठेली पर गोलगप्पे खाने के लिए लोगों की भीड़ रहती है। दौलत ने बताया कि सबसे खास बात यह है कि अब विशेष त्यौहार आदि पर जब घर पर बुलाया जाता है तो बहुत ही आराम से पहुंच जाते हैं।

लोग भी हो जाते हैं हैरान

दौलत बताते हैं कि उनके इस आइडिये को लोग काफी पसंद कर रहे हैं। लोगों द्वारा उनसे इस ई-रिक्शा के बारे में सवाल पूछे जाते हैं। वे इस ई-रिक्शा में और भी नए प्रयोग करने का सोच रहे हैं।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned