रेलवे जीएम-डीआरएम ने स्टेशन में लगाई झाड़ू, फिर ट्रेन हादसे को लेकर कही ये बात

विश्व संरक्षा दिवस पर अंबिकापुर में आयोजित संगोष्ठी में कर्मचारियों की सुनीं समस्याएं, कहा- बिलासपुर जोन के रेलवे क्रॉसिंग अब हैं मानव रहित

By: rampravesh vishwakarma

Published: 07 Jun 2018, 09:02 PM IST

अंबिकापुर. दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के महाप्रबंधक गुरुवार को विश्व संरक्षा संगोष्ठी सहित विभिन्न कार्यक्रम में शामिल होने अंबिकापुर पहुंचे। रेलवे जीएम ने सफाई कर्मचारियों के साथ स्टेशन परिसर में झाड़ू लगाकर सफाई करने का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि यह सांकेतिक है। इस दौरान उन्होंने सफाई कर्मचारियों से वेतन मिलने के संबंध में जानकारी ली।

सफाई कर्मचारियों ने बताया कि ठेकेदार उन्हें 350 रुपए की जगह 150 रुपए ही देता है। इसपर उन्होंने कानून के तहत सभी कर्मचारियों को पारिश्रमिक देने को कहा। ऐसा नहीं करने पर ठेकेदार को बर्खास्त करने के भी निर्देश दिए।


संरक्षा संगोष्ठी में सुनीं कर्मचारियों की समस्या
विश्व संरक्षा दिवस पर दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे द्वारा आयोजित संगोष्ठी में जीएम ने रेलवे कर्मचारियों की समस्याएं सुनीं। उन्होंने बताया कि पूरा बिलासपुर जोन देश में पहला ऐसा जोन बन गया है जहां अब मानव रहित रेलवे क्रासिंग हैं। ट्रेन में बैठे किसी भी यात्री के सुरक्षा की जिम्मेदारी हम सभी की है। इसलिए ध्यान रखे कि किसी प्रकार की लापरवाही न बरतें।

अगर कोई हादसा होता है और किसी की जान जाती है तो सबसे अधिक परेशानी जीएम को होती है क्योंकि उसे अपने ही कर्मचारी के खिलाफ कार्रवाई करनी पड़ती है। हमेशा अधिक आत्मविश्वास की वजह से ही हादसा होता है। इस दौरान कर्मचारियों ने बताया कि अदानी साइडिंग में 20 से 25 घंटे तक लोडिंग के लिए खड़ा रहना पड़ता है।

इसपर उन्होंने कहा कि जब हमारे कर्मचारी आराम ही नहीं करेगा तो वह काम कैसे करेगा। इस संबंध में उन्होंने अदानी कोल माइंस से चर्चा करने की बात कही। इसके साथ ही रेलवे कर्मचारियों को स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने के लिए एम्बुलेंस किराये पर लेने की बात कही।


नुक्कड़ नाटक पर दिया 25 हजार का पुरस्कार
भारत स्काउट-गाइड बिलासपुर के छात्र-छात्राओं द्वारा स्वच्छता अभियान पर एक नुक्कड नाटक की प्रस्तुति रेलवे स्टेशन में दी गई। उत्कृष्ट प्रदर्शन करने पर भारत छात्र-छात्राओं को 25 हजार रुपए का पुरस्कार देने की घोषणा जीएम ने की।



Nukkad-Natak

मैनपाट व अमृतधारा में बनेंगे रेस्ट हाउस
डीसीएम ने जीएम को बताया कि मैनपाट में रेलवे रेस्ट हाउस बनाने के लिए जमीन आबंटित हो गया है। इस पर उन्होंने कहा कि मैनपाट में अमरकंटक की तर्ज पर बेहतर रेस्ट हाउस बनाया जाएगा। इसके साथ ही अमृतधारा में भी जमीन मिलने की बात कही गई। वहां भी रेस्ट हाउस बनाने की बात कही गई। इसके बाद पूरे अमले के साथ जीएम मैनपाट रवाना हो गए।

rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned