मलाला ने ऑक्सफोर्ड में अपना पहला लैक्चर अटैण्ड किया

Rahul Chauhan

Publish: Oct, 10 2017 06:12:54 AM (IST) | Updated: Oct, 10 2017 06:24:03 AM (IST)

अमरीका
मलाला ने ऑक्सफोर्ड में अपना पहला लैक्चर अटैण्ड किया

मलाला ने अगस्त में लेडी मार्ग्रेट हॉल कॉलेज फिलॉसफी, राजनीति और अर्थशास्त्र की पढ़ाई के लिए चुना है।

लंदन: दुनिया की जानी मानी सामाजिक कार्यकर्ता एवं महिला शिक्षा की अलख जगाने के लिए अपनी जान पर खेलने वाली मलाला य़ुसुफजई ने अपनी एक फोटो ट्विटर पर ट्वीट की है। इसमें उन्होंने अमरीका ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में अपना पहला लेक्चर लैक्चर अटैण्ड करने का जिक्र किया है। मलाला ने लिखा है कि आज से 5 साल पहले मुझे शिक्षा की अलख जगाने के लिए गोली मारी गई थी और मैं आज में ऑक्सफोर्ड में अपना पहला लैक्चर अटैण्ड कर रही हूं।

 

20 साल की नोबेल शांति पुरस्कार विजेता मलाला को आतंकवादियों ने 5 साल पहले सिर में कई गोलियां मारी थीं। मलाला ने अगस्त में लेडी मार्ग्रेट हॉल कॉलेज फिलॉसफी, राजनीति और अर्थशास्त्र की पढ़ाई के लिए चुना है। मलाला को आतंकवादियों ने घर से स्कूल जाते समय साल 2012 में लाइफ अंडर द तालिबानी रूल नाम की डायरी लिखने के कारण गोली मार दी थी।

5 साल पहले मुझे महिला शिक्षा के लिए बोलने के कारण गोलियां मारी गईं थीं। आज मैंने ऑक्सफोर्ड में अपना पहला लैक्चर अटैण्ड किया। मलाला ने ट्विटर पर यह लिखकर ट्वीट किया जिसे उसने जुलाई में स्कूल खत्म करने के बाद ज्वाइन किया है।

मिनटों के भीतर उसकी तस्वीर को 10,000 से अधिक बार साझा किया गया क्योंकि दुनिया भर के लोगों ने उसे शुभकामनाएं दी थी।

एक ट्विटर यूजर ने लिखा, सभी बेहतरीन। आप हर लड़की की इतनी अद्भुत प्रेरणा हैं।

एक अन्य ट्वीट ने कहा: बधाई हो, मलाला। आप इस दुनिया में महिलाओं और हम सभी के लिए आशा की दृष्टि से खड़े हैं। विश्वविद्यालय का आनंद लें!

 

करीबी घातक चोटों से उबरने के बाद, मलाला और उसके परिवार को ब्रिटेन के बर्मिंघम में स्थानांतरित किया गया।

वह विश्व स्तर पर लड़कियों की साक्षरता में सुधार के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ज्ञान प्रतीक और वकील बन गईं, और 2017 में संयुक्त राष्ट्र शांति पुरस्कार प्राप्त कर सबसे कम उम्र की शांति दूत बन गई।

Ad Block is Banned