अमरीका ने चीन को दी हिदायत, 'ताइवान को दबाना बंद करें'

अमरीका ने चीन को दी हिदायत, 'ताइवान को दबाना बंद करें'

Shweta Singh | Publish: Jan, 10 2019 07:18:04 PM (IST) | Updated: Jan, 10 2019 07:18:05 PM (IST) अमरीका

साथ ही अमरीका ने ताइवान सरकार के साथ संवाद फिर से शुरू करने का आग्रह भी किया।

वाशिंगटन। अमरीका ने चीन से ताइवान पर दबाव नहीं डालने और दोनों पक्षों के बीच मतभेदों के शांतिपूर्ण हल निकालने की सलाह दी है। साथ ही ताइवान सरकार के साथ संवाद फिर से शुरू करने का आग्रह भी किया। ताइवान में वस्तुत: अमरीकी दूतावास की तरह काम करने वाले मिशन की प्रवक्ता ने यहां गुरुवार को ये टिप्पणी की।

चीन-ताइवान मतभेदों का निकले शांतिपूर्ण हल

समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले हफ्ते चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग द्वारा द्वीप के साथ एकीकरण हासिल करने के लिए सैन्य शक्ति के प्रयोग को खारिज नहीं करने के मद्देनजर कई अमरीकी सेनेटर और सांसदों ने ताइवान का समर्थन किया था, जिसके बाद प्रवक्ता अमांडा मनसोर की यह प्रतिक्रिया आई है। मनसोर ने शी के भाषण के संदर्भ में कहा, 'अमरीका की चीन-ताइवान शांति और स्थिरता में गहरी व स्थायी रूचि है। चीन-ताइवान मतभेदों का कोई भी हल शांतिपूर्ण और दोनों पक्षों के लोगों की इच्छा के आधार पर होना चाहिए।'

अमरीकन इंस्टीट्यूट ताइपे में अमरीकी दूतावास

गौरतलब है कि ताइवान स्थित अमरीकन इंस्टीट्यूट ताइपे में एक तरह से अमरीकी दूतावास है जो 1979 से द्वीप पर वाशिंगटन के हितों का प्रतिनिधित्व करता आ रहा है। 1979 में अमरीका ने चीन के साथ कूटनीतिक संबंध स्थापित करने के लिए ताइपे के साथ रिश्ते तोड़ दिए थे।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned