दक्षिण चीन सागर में बढ़ा अमरीका का दबदबा, नेवी ने चलाया 'फ्रीडम ऑफ नेविगेशन' ऑपरेशन

दक्षिण चीन सागर में बढ़ा अमरीका का दबदबा, नेवी ने चलाया 'फ्रीडम ऑफ नेविगेशन' ऑपरेशन

Mohit Saxena | Publish: May, 20 2019 10:20:10 AM (IST) | Updated: May, 20 2019 11:43:37 AM (IST) अमरीका

  • दक्षिण चीन सागर में चीन के दबदबे को चुनौती दी
  • 22 मई तक जारी रहेगा अमरीकी नौसेना का ऑपरेशन
  • सिंगापुरसहित कई देश अपने लड़ाकू विमानों के साथ ले रहे हैं हिस्सा

वाशिंगटन। अमरीकी नौसेना के युद्धपोत ने रविवार को दक्षिण चीन सागर में 'फ्रीडम ऑफ नेविगेशन' ऑपरेशन चलाया। ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के बाद से पहली बार बीजिंग के समुद्री दावों को चुनौती मिली है। उसने चीन के प्रभाव वाले द्वीपों के पास यातायात की आजादी (फ्रीडम ऑफ नेविगेशन) के लिए अभियान संचालित किए।

ट्रंप और ओबामा ने दी अमरीकी राजनीति को नई दिशा, बदल गए राष्ट्रपति होने के मायने

भारत और सिंगापुर ने भी किया अभ्यास

भारत और सिंगापुर की नौसेनाओं ने रविवार को ही दक्षिण चीन सागर में द्विपक्षीय अभ्यास किया। ये 22 मई तक जारी रहेगा। भारतीय नौसेना ने समुद्री गश्ती विमान पोसीडॉन-81 के साथ के अभ्यास में हिस्सा लिया। सिंगापुर की ओर से उसके आएसएन जहाजों- स्टीडफास्ट और वैलिएंट ने हिस्सा लिया। समुद्री गश्ती विमान फोकर-50 और एफ-16 लड़ाकू विमान अभ्यास करेंगे। नौसेना ने एक बयान में बताया कि द्विपक्षीय समुद्री रक्षा शो 'आईएमडेक्स- 19' के सफलतापूर्वक पूरा होने के बाद आईएनएस कोलकाता और आईएनएस शक्ति 16 से 22 मई के दौरान वार्षिक सिम्बेक्स-2019 (सिंगापुर इंडिया मैरीटाइम बायलेट्रल एक्सरसाइज) में हिस्सा लेने सिंगापुर में ठहर गए थे। बता दें दक्षिण चीन सागर में चीन अपना दबदबा बनाना चाहता है। इसे रोकने के लिए यह अभियान चलाया गया है।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned