एक्सीडेंट में मारी गयी मां-बेटी, पुलिस ने रातभर अखबार से ढककर लाश को रखा खुले आसमान के नीचे

एक्सीडेंट में मारी गयी मां-बेटी, पुलिस ने रातभर अखबार से ढककर लाश को रखा खुले आसमान के नीचे

Karishma Lalwani | Publish: Nov, 10 2018 01:59:11 PM (IST) | Updated: Nov, 10 2018 06:05:37 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

कोतवाली क्षेत्र में मां और उसकी दुधमुंही बेटी की लाश झाड़ियों में पाई गई थी

अमेठी. जगदीशपुर कोतवाली से यूपी पुलिस की शर्मसार करती हुई तस्वीर सामने आई है। कोतवाली क्षेत्र में मां और उसकी दुधमुंही बेटी की लाश झाड़ियों में पाई गई थी। पुलिस एक्सीडेंट बताकर शिनाख़्त के लिए लाश को कोतवाली ले आई थी और रात भर लाश को अखबार से ढक कर खुले आसमान के नीचे छोड़ रखा था। जिस कोतवाली का ये मामला है, वो योगी सरकार के मंत्री सुरेश पासी की विधानसभा क्षेत्र में है।

गड्ढे में फंसकर बाइक हुई अनियंत्रित

पुलिस के अनुसार सोमवार को स्थानीय थाना क्षेत्र के मटियारी गांव निवासी अनिल कुमार अपनी दो साल की बेटी शर्मिला और पत्‍‌नी सुनीता को बाइक से इलाज के लिए ले जा रहा था। वह रानीगंज के प्रेमगढ़ गाव के पास पहुंचा ही था कि रास्ते में गड्ढ़े में फंस कर बाइक अनियंत्रित होकर पलट गई। गंभीर चोट आने से सुनीता और उसकी बेटी की मौत हो गयी, जबकि पति बच गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया था।

पुलिस ने सुलह करने का बनाया दबाव

मृतक सुनीता के मायके वालों नें आरोप लगाया है कि पति अनिल कुमार दूसरी पत्नी को रखे हुए है। इस कारण उसने मृतका और बच्ची की हत्या कर लाश को ठिकाने लगाने के लिए झाड़ी में फेंक दिया था। जब उन्हें सूचना लगी, तब उन्होंने थाने में तहरीर दी। लेकिन पुलिस ने उनपर सुलह का दबाव बनाकर उन्हें वहां से भगा दिया। मां-बेटी की लाश को पुलिस ने रातभर कोतवाली परिसर में खुले आसमान के नीचे अखबार से ढककर रख दिया।

एसपी अमेठी नें बताया कि मामला सड़क दुर्घटना का नजर आ रहा है। लाश को कब्जे में ले लिया गया है। वैसे सही स्थित का पता पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आनें के बाद ही हो सकेगा।

Ad Block is Banned