पंजाब पुलिस ने पिता किया प्रताड़ित, बेटे ने दी जान, छोड़ा सुसाइड नोट

मास्क न पहने पर बाइक का चालन काटा, कंडोम मिलने की बात कह पिता को बुलाया

पुलिस वालों ने किया बेइज्जत, 500 रुपये लेकर छोड़ी बाइक, बेटे ने छोड़ा सुसाइड नोट

कोई कार्रवाई न होने पर भाजपा और अकाली दल का थाना मोकमपुरा के बाहर धरना शुरू

 

By: Bhanu Pratap

Updated: 17 Jun 2020, 10:33 AM IST

अमृतसर। पंजाब पुलिस ने हद कर दी है। वसूली के लिए कुछ भी कर रही है। पुलिस की प्रताड़ना से तंग आकर एक युवक ने आत्महत्या कर ली। सुसाइड नोट में पुलिस वालों को जिम्मेदार ठहराया। पुलिस वालों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। इस पर भारतीय जनता पार्टी और शिरोमणि अकाली दल के कार्यकर्ताओं ने थाना मोकमपुरा के सामने धरना शुरू कर दिया। आत्महत्या करने वाला युवक प्रवासी मजदूर का बेट था

मास्क न पहने पर चालान काटा

घटना सोमवार शाम से शुरू होती है। मोकमपुरा थाना के अंतर्गत आते न्यू प्रीत नगर इलाके का 20 वर्षीय अंकित जो कि 12वीं क्लास का छात्र था, अमृतसर के बटाला रोड से मोटरसाइकिल पर अपने घर की ओर जा रहा था। पुलिस ने नाका लगाकर उसे रोका। मास्क न पहनने पर ₹500 का चालान काटा। उसके मोटरसाइकिल के कागज रख लिए। यह कहते हुए उसे घर भेज दिया कि तुम्हारे मोटरसाइकिल में से कॉन्डम निकले हैं, इसलिए अपने बाप को बुलाओ फिर तुम्हें घर जाने देंगे।

Suicide

पिता को धमकया, रिश्वत भी ली

इसके बाद अंकित अपने पिता को लेकर आया। पुलिस मुलाजिम ने अंकित वह अंकित के पिता को धमकाया व अभद्र भाषा का प्रयोग किया। आरोप है कि ₹500 की और मांग करते हुए कहा कि पैसे दे देना और अपने मोटरसाइकिल के कागज ले जाना। मौके पर पुलिस ने अंकित व उसके पिता से ₹500 लेकर उनको छोड़ दिया।

Suicide

आहत पुत्र ने दी जान

अपने पिता को पुलिस द्वारा जलील किए जाने के बाद अंकित ने घर आकर दरवाजा बंद कर पंखे से फंदा लगा आत्महत्या कर ली। सुसाइड नोट में उसने पुलिस मुलाजिमों को जिम्मेदार बताया है। इसी बात को लेकर मंगलवार को प्रवासी मजदूरों ने थाना मोकमपुरा में पूरा दिन नारेबाजी की।

Suicide

भाजपा और अकाली दल की मांग

इसके बाद बुधवार को भारतीय जनता पार्टी और शिरोमणि अकाली दल के कार्यकर्ताओं ने थाना मोहकमपुर क बाहर धरना लगा दिया। पुलिस मुलाजिम एएसआई श्याम लाल और एएसआई दविंदर सिंह को बर्खास्त करने की मांग कर रहे हैं। जमकर नारेबाजी हो रही है। प्रवासी मजदूर इन दोनों पुलिस अधिकारियों पर 302 का मामला दर्ज करने के लिए पुलिस पर दबाव बना रहे हैं। मांग हो रही है कि मृतक के परिजनों को 10 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाए।

BJP
Show More
Bhanu Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned