मानसून की झड़ी से किसानों के खिले चेहरे, एक दिन में 22.7 मिमी बारिश

मानसून की झड़ी से किसानों के खिले चेहरे, एक दिन में 22.7 मिमी बारिश

Amaresh Singh | Updated: 04 Jul 2019, 11:30:54 AM (IST) Anuppur, Anuppur, Madhya Pradesh, India

1.75 लाख हेक्टेयर में होगी खरीफ की बुवाई

अनूपपुर। मानसून की सक्रियता के अटकलों में मंगलवार 2 जुलाई की रात से मानसून जिलेभर में पूरी तरह सक्रिय हो गया। मंगलवार की रात से आरम्भ हुई बारिश का दौर बुधवार की शाम तक जारी है। यह सिलसिला जिले के चारों विकासखंडों अनूपपुर, कोतमा, जैतहरी व पुष्पराजगढ़ में बनी हुई है।


झमाझम हुई बारिश
हालांकि अभी मानसून की मूसलाधार बारिश की बौछार नहीं गिरी है, लेकिन जिले के कुछ क्षेत्रों में तेज बारिश की बौछार से क्षेत्र पानी पानी हो गया है। कोतमा व बिजुरी में रात से हल्की तेज बारिश की बौछार लगातार गिर रही है। जबकि अमरकंटक में मंगलवार की रात हल्की बारिश तथा बुधवार की दोपहर झमाझम बारिश की बौछार ने मानसून आने का एहसास कराया दिया है। मंगलवार की रात से लगातार जारी बारिश के कारण बुधवार को दिनभर आसमान पर काले बादलों की उमड़-घूमड़ बनी रही और दिनभर सूर्यदेव के दर्शन नहीं हो सके। जिला मुख्यालय के अनेक मार्ग पर पानी भर आया है। जबकि हल्की तेज मध्यम हवाओं से मौसम सुहानी बनी हुई है।


अभी तक खरीफ की बुवाई शुरू नहीं हो सकी है
मानसून की बारिश की दस्तक से किसानों के चेहरे पर खुशी की लहर छा गई है। इनमें खासकर अनूपपुर, जैतहरी और कोतमा क्षेत्र के किसानों की खुशी का ठिकाना नहीं है। जिले के इन तीनों विकासखंड में मानसून की बारिश की अभाव में अबतक खरीफ की बोवाई आरम्भ नहीं हो सकी है। इससे पूर्व रिमझिम गिर रही बारिश की फुहार में गर्मी धरती तृप्त नहीं हो सकी। जिसके कारण किसानों ने अबतक अपने खेतों को तैयार तक नहीं किया था। लेकिन अब लगातार बारिश की बौछार में किसान खेतों में खरीफ की बुवाई में जुट गए हैं। किसानों का कहना है कि अगर लगातार बारिश का दौर बना रहा तो खेतों में खरीफ की बुवाई बेहतर तरीके से सम्भव हो पाएगी। वहीं कृषि विभाग का अनुमान है कि मानसून प्रदेश में सक्रियता हो चुकी है तथा अनूपपुर में अब मानसून की लगातार बारिश की सम्भावना दिख रही है। उनके अनुसार पिछले वर्ष भी 3 जुलाई तक जिले में लगभग 11 फीसदी खरीफ की बुवाई हो चुकी थी। वहीं वर्ष 2019 में भी लगभग 13 फीसदी बुवाई के अनुमान हैं।


24 घंटे में 22.7 मिमी औसत बारिश
अधीक्षक भू-अभिलेख अधिकारी एसएस मिश्रा के अनुसार मानसून की सक्रियता के कारण एक दिन में 22.7 मिमी औसत बारिश दर्ज की गई है। जबकि 24 घंटे में जिलें में कुल 179.1 मिमी वर्षा दर्ज की गई। अनूपपुर में 32.4, कोतमा 27.0, बिजुरी में 24.6, जैतहरी में 7.8, वेंकटनगर में 26.0, पुष्पराजगढ में 20.0, अमरकंटक में 20.3, बेनीबारी में 21.0 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है। जबकि 1 जून से अबतक जिले में 172.2 मिमी बारिश दर्ज की गई है जो पिछले वर्ष की तुलना में 34.4 मिमी बर्षा अधिक है।


1.75 लाख हेक्टेयर में होगी खरीफ की बुवाई
कृषि विभाग इस वर्ष 1.75 लाख हेक्टेयर खरीफ की बुवाई का लक्ष्य रखा है। जिसमें धान के लिए 115.20 हजार हेक्टेयर, ज्वार 200 हेक्टेयर, मक्का13.95 हजार हेक्टेयर, कोदो कुटकी 15 हजार हेक्टेयर, दलहन फसलो में अरहर 9.95 हजार हेक्टेयर, मूंग 0.80 हजार हेक्टेयर, उड़द 4 हजार हेक्टेयर तथा तिलहन की फसलों में मूंगफली 1 हजार हेक्टेयर, तिल 2 हजार हेक्टेयर, सोयाबीन 5 हजार हेक्टेयर, रामतिल 8 हजार हेक्टेयर सहित कुल 175.56 हेक्टेयर भूमि में बोनी का लक्ष्य रखा गया है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned