हर हर महादेव से गूंजा शिवालय, जालेश्वर महादेव धाम में भक्तों ने किया जलाभिषेक

सुबह से झमाझम बारिश का बना रहा सिलसिला, जिलेभर के शिवमंदिरों में हुई विशेष पूजा अर्चना

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 07 Jul 2020, 06:01 AM IST

अनूपपुर। शिव आस्थाओं से जुड़ी पवित्रनगरी अमरकंटक तथा जालेश्वर धाम सावन मास के प्रथम सोमवार के मौके पर हर-हर महादेव जयघोष से गुंजायमान हो गया। सुबह से कावडिय़ों व शिवभक्तों का जत्था अमरकंटक और जालेश्वर धाम पहुंचकर दर्शन के लिए उमड़ा।सावन मास के प्रथम दिन प्रथम सोमवार होने पर इन्द्रदेव ने भी महादेव को बारिश के रूप में वर्षा कर जलाभिषेक किया। सुबह से बारिश का सिलसिला दिनभर जारी रहा। हालंाकि ५ जुलाई को ही गुरू पूर्णिमा के मौके पर अपने गुरू के आशीवार्द प्राप्त करने आए बाहरी शिष्यों और शिवभक्तों ने प्रथम सोमवार में माता नर्मदा का दर्शन और पूजन अर्चन किया। वहीं स्थानीय और बाहर से आए कांवडिय़ों का जत्था कवर्धा छत्तीसगढ़ से अमरकंटक पहुंचा। कावडिय़ों व शिवभक्तों ने नर्मदा स्नान कर मंदिरों में विशेष पूजा अर्चना की, और नर्मदा जल भरकर जालेश्वर धाम पहुंचकर महादेव का जलाभिषेक किया। मान्यता है कि श्रावण मास में सोमवार को नर्मदा में स्नान कर गीले वस्त्र में ही किसी हाथ में जल पात्र में नर्मदा जल लेकर पैदल जालेश्वर महादेव जाकर फूल व बेलपत्र के साथ जलाभिषेक करें तो महादेव भक्त पर प्रसन्न होते हैं, साथ ही अगर भक्त जालेश्वर के उपरांत लोढेश्वर महादेव व कोटेश्वर महादेव का भी दर्शन करें तो उससे उन्हें पुण्य की प्राप्ति होती है। इस मौके पर दोनों ही धार्मिक स्थानों पर कांवडिय़ों व श्रद्धालुओं द्वारा मंदिरों में पूजन अर्चन किया। वहीं जालेश्वर में जल चढ़ाकर कावडि़ए पुन: अमरकंटक नर्मदा मंदिर पहुंचेंगे, जहां से जलभर कर कर्वधा स्थित बूढा महादेव मंदिर के लिए रवाना होंगे। हालांकि कोरोना संक्रमण और बारिश के कारण इस वर्ष कावडिय़ों की संख्या बहुत कम रही। जानकारों का कहना है कि दूसरे सोमवार से सम्भवत: संख्या बढेगी।
बॉक्स: स्थानीय मंदिरों में भी विशेष पूजा अर्चना
प्रथम सोमवार पर जिला मुख्यालय स्थित रामजानकी मंदिर, दुर्गा माता मढिय़ा मंदिर, तिपाननदी शिवमंदिर, बस्ती मार्ग स्थित शिवमंदिर सहित अन्य मंदिरों पर शिव भक्तों खासकर महिलाओं ने विशेष पूजा अर्चना की। इसके अलावा जैतहरी, पसान, बदरा, कोतमा, बिजुरी, रामनगर सहित अन्य स्थानों पर शिव मंदिरों में सुबह से ही श्रद्धालुओं द्वारा जल चढाने एंव भोले शंकर को मनाने की होड़ लगी रही। उल्लेखनीय है कि सावन मास में जिले से से हजारोंं श्रद्धालुओं का जत्था झारखंड स्थित बाबा बैजनाथधाम जाकर भी जल चढाते है। कोतमा नगर के धर्मशाला मंदिर, बस स्टैंड गौरी शंकर मंदिर, बस्ती शंकर मंदिर, ठाकुर बाबा धाम, लहसुई कैम्प मंदिर, गोविन्दा कॉलरी मंदिर, विकास नगर मंदिर सहित अन्य मंदिरों में भक्तो ने पूजा अर्चना किया। वहीं भालूमाड़ा में अघोरी बाबा मंदिर में विशेष पूजा अर्चना की गई।
----------------------------------------------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned