धारदार हथियार से पत्नी की हत्या करने बाद ट्रेन के सामने आकर पति ने दी जान

परिजनों से पूछताछ में पूर्व से विवाद होने की आई बात, रात एक बजे बाद हत्या करने की परिजनों ने जताई आशंका

अनूपपुरा। भालूमाड़ा थाना के फुनगा चौकी अंतर्गत रक्सा गांव में धारदार हथियार से पति ने पत्नी पर लगातार कई बार कर उसे मौत के नींद सुला दिया और इसके बाद वह घर से छह किलोमीटर दूर धुरवासिन-मौहरी रेलवे ट्रैक पर पहुंचकर ट्रेन के नीचे आकर खुदकुशी कर लिया। इस घटना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों ही मामलों में प्रकरण दर्ज कर लिया है और मामले की जांच की जा रही है। जानकारी के अनुसार ४० वर्षीय पति पूरन सिंह गोंड का अपनी ३८ वर्षीय पत्नी सोना बाई के साथ किसी बात लेकर अक्सर विवाद की स्थिति बनती रहती थी। जिससे पूरन सिंह ने धारदार हथियार से वार करते हुए उसे मौत की नींद सुला दी और स्वयं भी उसने आत्महत्या कर लिया। पुलिस महिला की मौत पर धारा 302 अपराध दर्ज किया गया है। वही पूरन सिंह की मौत के मामले में भालूमाडा पुलिस द्वारा मर्ग कायम कर जांच की जा रही है। पुलिस ने दोनों शवों का पंचनामा तैयार कर पीएम उपरांत परिजनों को सौंप दिया है। भालूमाड़ा थाना प्रभारी मनोज दीक्षित ने बताया कि मृतिका सोना बाई गोंड का मायका पडरिया गांव हैं जिसका विवाह 20 वर्ष पूर्व पूरन सिंह के साथ हुआ था। महिला कुछ दिन पूर्व अपनी बड़ी बहन के साथ पडरिया गई थी, जहां से वापस आने के बाद उसका पति से लगातार विवाद होता रहा। इसी बीच विवाद बढता देख सोना बाई पुन: अपने मायके चली गई, जहा 5-6 दिनों तक रहने के बाद 2 दिन पूर्व ही ससुराल रक्सा गांव आई थी। 8 दिसम्बर की रात दोनों पति-पत्नी के बीच किसी बात को लेकर विवाद हुआ, जहां देर रात पति ने पत्नी की हत्या कर दी। महिला की हत्या के सम्बंध में जानकारी सरपंच ने पुलिस को दी। वहीं रेलवे ट्रैक पर लाश पाए जाने पर गैंगमेन ने घटना की सूचना भालूमाड़ा पुलिस को दी। थाना प्रभारी के अनुसार सुबह लगभग 10 बजे फुनगा चौकी में खबर आई थी की धुरवासिन-मौहरी के बीच कोई व्यक्ति रेल लाइन में मृत पड़ा है। जिसके बाद चौकी प्रभारी अनुराधा परस्ते वहां के लिए रवाना हुइर्। इसके बाद ही सूचना मिली की ग्राम रक्सा में एक महिला की हत्या हो गई है। जिसकी सूचना भालूमाड़ा थाने में दी गई। सूचना पर चौकी प्रभारी फुनगा को रक्सा गांव भेजा गया, वहीं दो स्टाफो को भेजकर रेलवे लाइन से शव का पंचनामा कराया गया। दो की मौत की सूचना पर कोतमा एसडीओपी सहित एफएसएल डॉ. आनंद नागपुरे, चौकी प्रभारी अनुराधा परस्ते सहित अन्य अधिकारी पहुंचे। मृतक के पिता भूखन सिंह ने बताया कि रात लगभग 11 बजे तक घर में सभी लोग बातचीत कर रहे थे, उसके बाद अपने अपने कमरे में सोने चले गए।
बॉक्स: बुआ की बेटी ने कहा चल तुझे टोपी पहना दूं
घर में मृतक पूरन के माता पिता व उनकी बहन के साथ उनकी 13 साल की बेटी साथ ही रहते हैं। ९ दिसम्बर की सुबह पूरन की लगभग 5 साल की मुख बधिर पुत्री अपने कमरे से निकलकर अपनी बुआ के पास चली गई। बुआ ने कहा ठंडी है टोपी पहन आओ। छोटी बेटी घर गई और फिर वापस लौट आई। उसके बाद बुआ की13 वर्षीय पुत्री ने कहा चल मैं तुझे टोपी पहना दूं। वह बच्ची को लेकर जैसे ही कमरे में गई तो उसकी चीख निकल आई। जमीन पर सोना बाई का शव खून से लथपथ पड़ा था। चीखते हुए घर में बताया तब तक सारे लोग एकत्र हो गए। पूरे कमरे में खून के छींटे पड़े थे। यहां तक कि पूरन सिंह के पैरों के निशान भी खून से सने हुए बाहर कमरे तक नजर आया। तब सरपंच के द्वारा फुनगा चौकी में इस बात की जानकारी दी गई। पुलिस का कहना है है कि महिला के हत्या में किए गए हथियार का अभी पता नहीं चल पाया है। लेकिन पुलिस व एफएसएल के डॉक्टर का मानना है कि हो सकता है कोई तेजधार हथियार हो।
वर्सन:
परिजनों से पूछताछ की जा रही है। साथ ही हत्या के सम्बंध में अन्य तथ्यों को भी जुटाया जा रहा है। प्रथम दृष्टया में चरित्र शंका की बात सामने आ रही है। विभिन्न बिन्दूओं की जांच के बाद ही सही तथ्य सामने आ सकेंगे।
किरणलता केरकेट्टा, पुलिस अधीक्षक अनूपपुर।
-------

Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned