मासूम की मौत; जिला प्रशासन ने डॉक्टरों से मांगी दो दिनों की मोहलत, जांच कर कार्रवाई का दिया आश्वासन

मासूम की मौत; जिला प्रशासन ने डॉक्टरों से मांगी दो दिनों की मोहलत, जांच कर कार्रवाई का दिया आश्वासन

shivmangal singh | Publish: Sep, 05 2018 08:55:56 PM (IST) | Updated: Sep, 05 2018 09:07:23 PM (IST) Anuppur, Madhya Pradesh, India

ओपीडी कार्य पर लौटे डॉक्टर, आज से आरम्भ होगी पुलिस सहायता चौकी

अनूपपुर। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कोतमा में 31 अगस्त को उपचार के दौरान 13 माह की मासूम की मौत के बाद गुस्साएं परिजनों द्वारा स्वास्थ्य केन्द्र में हंगामा मचा बीएमओ के साथ की गई मारपीट और डॉक्टरों द्वारा सामूहिक कार्य का बहिष्कार कर कार्रवाई की मांग में अबतक दी जा रही आपातकालीन सेवा पर प्रशासन हरकत में आई है। जहां डॉक्टरों के सामूहिक इस्तीफे की चेतावनी को गम्भीरता से लेते हुए कोतमा बीएमओ केएल दीवान से दो दिनों की मोहलत लेते हुए आश्वस्त किया है कि दो दिनों में जांच कर कार्रवाई अवश्य की जाएगी। वहीं डॉक्टरों ने प्रशासन की अपील पर दो दिनों की मोहल्लत देते हुए मंगलवार ४ सितम्बर की सुबह स्वास्थ्य केन्द्र पर ओपीडी सहित अन्य सेवाएं के लिए उपस्थिति दर्ज कराई। डॉक्टरों का कहना है कि अगर इन दोनों के भीतर जिला प्रशासन द्वारा दोषियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई तो ७ सितम्बर को स्वास्थ्य केन्द्र के सभी डॉक्टर्स सामूहिक रूप में अपना इस्तीफा प्रशासन को सौंपेंगे। वहीं 4 सितम्बर मंगलवार को सीएमएचओ डॉ. आरपी श्रीवास्तव तथा कोतमा पूर्व नपाध्यक्ष राजेश सोनी ने डाक्टरो के साथ बैठक कर सुलह कराया और बुधवार से परिसर में पुलिस सहायता केन्द्र चालू होने का आश्वासन दिया। डॉक्टरों के स्वास्थ्य केन्द्र में वापसी पर 3 दिनों से बंद उपचार के लिए परेशान ओपीडी मरीजों ने ओपीडी कक्ष खुलते ही अपना पंजीयन कराते हुए उपचार कराया। बताया जाता है कि मंगलवार को 300 के आसपास मरीजो ने अपना पंजीयन कराकर स्वास्थ्य परीक्षण कराया। विदित हो कि डॉक्टरों ने 1 सितम्बर को सामूहिक कार्य बहिष्कार कर कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंप कार्रवाई की अपील की थी। साथ ही ने मारपीट करने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने तथा 3 दिनों के भीतर कार्रवाई नहीं होने पर समस्त स्टॉफ द्वारा अपने पद से त्याग पत्र देने व 1 सितम्बर से सिर्फ आपातकालीन सेवाएं ही प्रदान करने चेतावनी दी थी। जिसके बाद १ सितम्बर से तीन सितम्बर तक कोतमा स्वास्थ्य केन्द्र में बाह्यरोगी विभाग के कक्ष तो जरूर खुले, लेकिन डॉक्टरों ने इस कक्ष से दूरी बनाई रखी। जिसके कारण सामान्य बीमारों का उपचार नहीं हो सका।
बॉक्स: आज से पुलिस चौकी सहायता केन्द्र होगा चालू
स्वास्थ्य केन्द्र में घटी घटना तथा आए असुरक्षा के बीच उपचार करने वाले डॉक्टरों की मांग पर पुलिस अधीक्षक तिलक सिंह ने थाना प्रभारी को बल की तैनाती के आवश्यक निर्देश दिए हैं। बताया जाता है कि पुलिस सहायत चौकी में 2 पुलिस कर्मी 1 प्रधान आरक्षक एंव 1 आरक्षक की डयूटी परमानेंट लगाई जाएगी।
वर्सन:
मंैंने मामले में डॉक्टरो से बातचीत कर ओपीडी चालू रखने के निर्देश दिए हैं, दो दिनों का समय लिया है, जांच में दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल स्वास्थ्य केन्द्र की सभी व्यवस्थाएं सामान्य हो गई हैं।
अनुग्रह पी, कलेक्टर अनूपपुर।

Ad Block is Banned