scriptNow in interrogation, the police took the poachers into judicial custo | अब पूछताछ में पुलिस ने शिकारियों को लिया न्यायिक हिरासत में, पुलिस और वनविभाग दर्ज करेगी प्रकरण | Patrika News

अब पूछताछ में पुलिस ने शिकारियों को लिया न्यायिक हिरासत में, पुलिस और वनविभाग दर्ज करेगी प्रकरण

दो स्थानों से लिए गए खून के सैंपल भेजे गए लैब

अनूपपुर

Published: January 22, 2022 09:46:40 pm

अनूपपुर। वनमंडल अनूपपुर के जमुड़ी बीट के पास वन्यजीवों की शिकार की योजना बना रहे तीन बाहरी शिकारियों की गिरफ्तारी और न्यायालय में प्रस्तुति के बाद अब पुलिस ने भी दो दिनों की न्यायिक अभिरक्षा में आरोपियों को लिया है। जहां पुलिस शिकार और बरामद किए गए आधुनिक राइफल व २५ जिंदा कारतूस सहित अन्य हथियारों के मामले में पूछताछ करेगी। इसके बाद पुलिस द्वारा जहां आम्र्स एक्ट के रूप में मामला दर्ज करते हुए अन्य धाराओं में कार्रवाई करेगी, वहीं पुलिस की कार्रवाई के बाद वनविभाग द्वारा भी गिरफ्तार शिकारियों के खिलाफ अन्य धाराओं में मामला दर्ज करेगी। वनमंडलाधिकारी अनूपपुर डॉ. अब्दुल अलीम अंसारी ने बताया कि २० जनवरी को शिकारियों को न्यायालय पेश के बाद पुलिस ने भी आधुनिक राइफल जब्ती पर न्यायिक हिरासत की मांग की। जिसमें न्यायालय ने पूछताछ के लिए दो दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजा है। डीएफओ ने बताया कि अन्य धाराओं में वनविभाग पुलिस के साथ दो दिन बाद मामला दर्ज करेगी। वहीं उन्होंने बताया कि १८-१९ जनवरी की रात शिकारियों की गिरफ्तारी के बाद २० जनवरी को शहडोल की डॉग स्क्वायड की टीम द्वारा लगातार घटना स्थल सहित आसपास की जांच की गई है, जिसमें दो स्थानों पर रक्त के धब्बे पाए गए हैं, इसके अलावा गांव के पास एक स्थान पर पाया गया है। जिसकी सैंपल हैदराबाद लैब भेजा गया है। वहीं वनविभाग अमला शिकार के मामले में पूरी सतर्कता के साथ जांच में जुटी है। जल्द ही पूछताछ में नया खुलासा सामने आ सकता है।
विदित हो कि १८-१९ जनवरी की रात डीएफओ अनूपपुर और चालक की सूझबूझ ने जमुड़ी बीट में बड़े शिकार के फिराक में जुटे तीन शिकारियों को मौके से गिरफ्तार कर उसके लग्जरी जीप क्रमांक सीजी १३ यूसी ७३०४ में एक आधुनिक राइफल, 25 जिंदा कारतूस एवं एक खाली कारतूस, दो चाकू, एक गड़ासा एवं एक एयर बैग, जिसमें एयरबैग और चाकू में खून लगा था पाया था। इस मामले में ३२ वर्षीय सोहराव फिरदौसी पिता अबरार अहमद, ३३ वर्षीय वकील पिता मोहम्मद हुसैन फिरदौसी, ३५ वर्षीय आरिफ पिता कासिम फिरदौसी सभी निवासी नवागढ़ अंबिकापुर जिला सरगुजा छत्तीसगढ़ के बताए जाते हैं को गिरफ्तार किया गया था। ये सभी शिकारी ३५० किलोमीटर दूर छग से शिकार में यहां पहुंचे थे।
-------------------------------------------------------------
Now in interrogation, the police took the poachers into judicial custo
अब पूछताछ में पुलिस ने शिकारियों को लिया न्यायिक हिरासत में, पुलिस और वनविभाग दर्ज करेगी प्रकरण

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मामले में काशी से दिल्ली तक सुनवाई: शिवलिंग की जगह सुरक्षित की जाए, नमाज में कोई बाधा न होCWG trials में मचा घमासान, पहलवान ने गुस्से में आकर रेफरी को मारा मुक्का, आजीवन प्रतिबंध लगाAmarnath Yatra: सभी यात्रियों का 5 लाख का होगा बीमा, पहली बार मिलेगा RIFD कार्ड, गृहमंत्री ने दिए कई अहम निर्देशभीषण गर्मी के बीच फल-सब्जी हुए महंगे, अप्रैल में इतनी ज्यादा बढ़ी महंगाईIPL 2022 MI vs SRH Live Updates : मुंबई ने टॉस जीतकर गेंदबाजी करने का फैसला कियाकोरोना के कारण गर्भपात के केस 20% बढ़े, शिशुओं में आ रही विकृतिवाराणसी कोर्ट में का फैसला: अजय मिश्रा कोर्ट कमिश्नर पद से हटे, सर्वे रिपोर्ट पर सुनवाई 19 मई को, SC ने ज्ञानवापी पर हस्तक्षेप से किया इंकारGyanvapi: श्रीलंका जैसे हालात दे रहे दस्तक, इसलिए उठा रहे ज्ञानवापी जैसे मुद्दे-अजय माकन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.