सामतपुर-हर्री क्षतिग्रस्त पुल तीसरी जगह भी क्षतिग्रस्त होकर नदी में बहा, आवाजाही बंद

दो साल से क्षतिग्रस्त हालत में खड़ी पुल के साइड दीवाल भी खिसकी

By: Rajan Kumar Gupta

Published: 16 Sep 2021, 10:31 PM IST

अनूपपुर। जिला मुख्यालय अनूपपुर के सामतपुर से हर्री-बर्री गांव के मध्य तिपान नदी पर क्षतिग्रस्त हालत में खड़े ६० मीटर लम्बी पुल पर बुधवार को नदी में बढ़े जलस्तर से पानी पुल के उपर से से बहना आरम्भ हो गया है। इस दौरान पानी के तेज बहाव में क्षतिग्रस्त हुए खम्भों सहित साइड दीवारों के भी खिसकने का सिलसिला बना हुआ है। जबकि पूर्व से दो स्थानों पर क्षतिग्रस्त हिस्सों के बाद १५ सितम्बर को तीसरे स्थान पर भी पुल का हिस्सा क्षतिग्रस्त होकर नदी में बह गया है। माना जाता है कि जैसे-जैसे पानी का जलस्तर नीचे उतरेगा और धारा तेजी से बहेगी, इसमें शुरूआती सेफ्टीवॉल सहित क्षतिग्रस्त होकर धरातल में बैठे स्लैब व खम्भों को भी बहाकर गिरा देगी। फिलहाल नदी के क्षतिग्रस्त पुल से हो रही ग्रामीणों की आवाजाही अब पूरी तरह बंद हो गई है। ग्रामीणों का कहना है कि यह पुल दर्जनों गांव को अनूपपुर मुख्यालय से जोड़ती है, लेकिन इसके बंद होने से अब ग्रामीणों को पांच-छह किलोमीटर दूर धुमावदार रास्ते से अनूपपुर जाना पड़ेगा। विदित हो कि वर्ष २००९ में १ करोड़ २७ लाख की लागत से निर्माण कराया गया लगभग ६० मीटर लम्बा पुल अक्टूबर २०१९ में क्षतिग्रस्त होकर बैठ गया। इसके बाद २०२० में इसी पुल के दूसरी छोर पर भी ४० फीट की लम्बी स्लैब भी टूटकर वी सेप में लेते हुए नदी के तल से बैठ गई थी। यह पुल दो स्थानों से पूरी तरह क्षतिग्रस्त होकर वी सेप में ५-६ फीट नीचे नदी की तल में बैठ गया था। जिसमें दोनों स्थानों पर ८-१० खम्भों के साथ ४०-४५ फीट के स्लैप टूटकर खम्भो के साथ क्षतिग्रस्त हुए थे। अब तीसरी जगह से क्षतिग्रस्त हुए हिस्से से पुल पूरी तरह तबाह हो गया है।
बॉक्स: दर्जनों गांव का सहारा
यह पुल सामतपुर जिला मुख्यालय से फुनगा तक शॉटकट होने के कारण हर्री, बर्री, भगताबांध, पसला, बिजौड़ी, चातरहिया, रक्शा, कोलमी, अमगंवा, छुलकारी, फुनगा के ग्रामीणों का सहारा है। ग्रामीणों का कहना है कि शॉटकट रास्ते में यह मार्ग बहुपयोगी है। लेकिन अब इस पुल के क्षतिग्रस्त से हजारों ग्रामीणों की यातायात प्रभावित है। गांवों तक चार पहिया वाहन अन्य धुमावदार रास्ते से गांव में पहुंच रहे हैं। इसमें समय व धन भी अधिक खर्च होता है।
----------------------------------------------

Show More
Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned