उपस्वास्थ्य केन्द्र पर ताला, तीन महीने से बंद केन्द्र, मरीजों को नहीं मिल रहा स्वास्थ्य लाभ

विभागीय अधिकारियों ने भी नहीं ली सुध, इलाज के लिए 25 किलोमीटर दूरी तय करते ग्रामीण

By: Rajan Kumar Gupta

Updated: 22 Jul 2021, 01:18 PM IST

अनूपपुर। कोरोना की तीसरी लहर के आशंकाओं के बीच स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाए रखते हुए मरीजों की नियमित जांच के निर्देश के बाद भी ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाएं उपेक्षित बनी हुई है। स्वास्थ्य केन्द्र होने के बाद भी अधिकांश सेंटर पर ताला लटक रहा है या बंद। जनपद पंचायत अनूपपुर के अंतर्गत ग्राम जर्राटोला खोडरी नंबर 1 में संचालित उप स्वास्थ्य केंद्र पिछले 3 महीने से बंद है। जिससे लोगों को प्राथमिक उपचार के लिए 25 किलोमीटर दूर कोतमा जाना पड़ता है। इस दौरान ग्रामीण क्षेत्र में बीमार मरीजों को तत्कालिक स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध नहीं हो पाती। अधिक दूरी और जरूरत को देखते हुए ग्रामीणों को मजबूरी में झोलाछाप चिकित्सकों से उपचार का सहारा लेना पड़ता है। कोरोना संक्रमण को देखते हुए जहां ग्रामीण क्षेत्रों में प्राथमिक स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध नहीं होने से और भी ज्यादा समस्या का सामना करना पड़ रहा है। इसके साथ ही गर्भवती महिलाओं की जांच एवं बच्चों का टीकाकरण भी यहां ठप पड़ा हुआ है। ग्रामीणों का कहना है कि इस उप स्वास्थ्य केंद्र पर समीप स्थित दर्जनों ग्रामों की स्वास्थ्य सुविधा टिकी हुई है, लेकिन यहां पदस्थ एएनएम के कार्य पर उपस्थित नहीं होने से ग्रामीणों को प्राथमिक स्वास्थ्य लाभ नहीं मिल पाता। उप स्वास्थ्य केंद्र भवन पर 3 महीनों से ताला लटक रहा है। वहीं उप स्वास्थ्य केन्द्र में पदस्थ एएनएम ने बताया कि उसकी ड्यूटी कोरोना वैक्सीनेशन सेंटर में लगाए जाने के कारण वह कार्य पर नहीं पहुंच पा रही है। जिसकी जानकारी सभी वरिष्ठ अधिकारियों को है। बावजूद एएनएम की ड्यूटी वैक्सीनेशन में लगे होने के बाद उनकी जगह किसी अन्य की ड्यूटी नहीं लगाई गई है।
-------------------------------------------------------

Show More
Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned