अधिकारियों ने समझाईश देकर चार माह के कुपोषित बालक को कराया एनआरसी में भर्ती

कलेक्टर के निर्देश के बाद फील्ड में पहुंचे अधिकारियों को आशा ने दी जानकारी

By: Rajan Kumar Gupta

Updated: 04 Aug 2021, 12:07 PM IST

अनूपपुर। कलेक्टर की फटकार के बाद स्वास्थ्य अमला अब कुपोषित बच्चों के सर्वेक्षण में मैदान में उतर आए हैं। जहां ३ अगस्त को टीम के सदस्यों ने मेडियारास पंचायत के कोयलारी टोला में ४ माह के कुपोषित बालक को एनआरसी में भर्ती कराया है। बताया जाता है कि कलेक्टर सोनिया मीना ने पत्रिका की कुपोषित बच्चों पर प्रकाशित खबरो पर संज्ञान लेते हुए स्वास्थ्य और महिला बाल विकास विभाग की जमकर फटकार लगाई थी। साथ ही अधिकारियों को फील्ड में उतरकर खुद कार्य करने के निर्देश दिए थे। साथ ही कहा था कि वे मैदानी अमले की एएनएम और आशा कार्यकर्ताओं के भरोसे कागजी आंकड़े न भरे। जिसके बाद डीपीएमयू अनूपपुर की टीम डॉ. एसबी चौधरी जिला टीकाकरण अधिकारी के नेतृत्व में सुनील नेमा, जिला कार्यक्रम प्रबंधक निश्चय चतुर्वेदी, डीसीएम कंचन पटेल, आरबीएसके समन्वयक एवं जिला आईसी सलाहकार मो. साजिद खान की संयुक्त टीम ग्राम कोयलारी टोला, मेडियारास एवं चिल्हारी का भ्रमण किया। जहां कोयलारी टोला में भ्रमण के दौरान आशा कार्यकर्ता सीता चौधरी एवं आशा पर्यवेक्षक मधु सोनी ने बताया कि रानी कोल पति प्रभू कोल के 4 महीना का लडक़ा काफी कमजोर है, जिसे एनआरसी में भर्ती के लिए समझाइस देने पर भी नहीं जा रही है। जिसके बाद घर जाकर समझाइस देते हुए एनआरसी भर्ती करवाया गया।
-------------------------------------------

Show More
Rajan Kumar Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned