Covid-19: बांग्लादेश में सभी शिक्षण संस्थाओं को तीन अक्टूबर तक बंद रखने का आदेश

Highlights

  • कौमी मदरसों (Madarsa) को छोड़कर सभी शिक्षण संस्थाओं अक्टूबर माह तक बंद रखा जाएगा।
  • दूरस्थ्य शिक्षा (Distance Learning) के माध्यम से बच्चों को पढ़ाने की कोशिश की जा रही है।

By: Mohit Saxena

Updated: 29 Aug 2020, 08:31 PM IST

ढाका। कोरोना वायरस महामारी के कारण बांग्लादेश ने शैक्षणिक संस्थानों को तीन अक्टूबर तक बंद रखने का निर्णय लिया है। शिक्षा मंत्रालय के अनुसार मदरसों को हालांकि इससे छूट रहेगी।

मार्च में देश में कोविड-19 का पहला मामला आते ही देश में विद्यालयों, कॉलेजों, विश्वविद्यालयों और अन्य शिक्षण संस्थानों को बंद कर दिया गया। बाद में शैक्षणिक संस्थाओं को बंद रखने की अवधि को कई बार बढ़ाया गया है। हालात को देखते हुए सरकार ने अब फैसला लिया है कि इन शिक्षण संस्थानों को बंद रखना ही मुनासिब होगा।

रिपोर्ट के अनुसार शिक्षा मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि कौमी मदरसों को छोड़कर सभी शिक्षण संस्थाएं पूरी तरह से बंद रहेंगी। वैश्विक कोरोना वायरस महामारी के कारण स्कूलों को खोलने की अवधि तीन अक्टूबर तक बढ़ाया जा रहा है।

दरअसल कौमी मदरसे बिना सरकारी निगरानी, पर्यवेक्षण या सहायता के संचालित होते हैं। उनका संचालन अधिकतर निजी दान से होता है।

सरकार ने कोरोना वायरस संकट के कारण इस वर्ष होने वाली प्राथमिक शिक्षा और परीक्षाओं को स्थगित कर दिया गया है। सरकार कहना है कि इन आगे लेने की कोशिश की जाएगी।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सरकार स्कूल और कॉलेजों के लिए टीवी के जरिए दूरस्थ शिक्षा कार्यक्रमों का संचालन कर रही है। प्राथमिक और माध्यमिक स्तर के छात्रों को पढ़ाने के लिए फेसबुक, यू-ट्यूब और अन्य सोशल मीडिया के माध्यमों का उपयोग किया जा रहा है।

coronavirus
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned