करोड़ों की कीमत वाले कुत्ते यहां सड़कों पर घूम रहे हैं लावारिस, इस कीमत में एक छोटा हवाई जहाज खरीदा जा सकता है

Rahul Mishra

Publish: Sep, 17 2017 05:00:11 (IST)

Asia
करोड़ों की कीमत वाले कुत्ते यहां सड़कों पर घूम रहे हैं लावारिस, इस कीमत में एक छोटा हवाई जहाज खरीदा जा सकता है

तिब्बत की प्रसिद्ध मास्टिफ प्रजाति के कुत्ते जो कभी चीन में करीब तीन करोड़ रुपए तक में बिका करते थे, आज उनकी कीमत घटकर महज कुछ हजार रह गई है.

बीजिंग: आपने अभी तक कुत्तों की कीमत हजारों और लाखों में तो सुनी होगी लेकिन अगर आपको बताया जाए कि एक डॉग की कीमत हवाई जहाज से भी ज्यादा है तो शायद ही आपको यकीन होगा। लेकिन ये तो सच है। जी हां, एक डॉग ऐसा है जिसकी कीमत 15 से 30 करोड़ है। इस कीमत में एक छोटा हवाई जहाज खरीदा जा सकता है।

लेकिन तिब्बत की इस विश्व प्रसिद्ध मास्टिफ प्रजाति के कुत्ते जो कभी चीन में करीब तीन करोड़ रुपए तक में बिका करते थे, आज उनकी कीमत घटकर महज कुछ हजार रह गई है। इस कारण तिब्बत में इन कुत्तों को सड़कों पर लावारिस छोड़ दिया गया है। वहीँ भारत में अब भी इन कुत्तों की कीमत 10 करोड़ रूपये से ज्यादा है। कहा जाता है कि इस नस्ल के कुत्ते रानी विक्टोरिया से लेकर चंगेज खान तक पालते थे। इन कुत्तों की ऊंचाई अधिक होती है। ये देखने में शेर जैसे लगते हैं। इनके लावारिस घूमने के कारण स्थानीय निवासियों की सुरक्षा को खतरा पैदा हो गया है और उनके सामने अपने पालतू पशुओं की सुरक्षा की चुनौती आ खड़ी है।

most expensive breed of dogs

चीन के सरकारी समाचार पत्र ग्लोबल टाइम्स ने बताया कि तिब्बती मास्टिफ बाजार में अपनी किस्मत चमकाने वाले लोगों ने अब अपने कुत्तों को छोड़ दिया है जिससे हजारों कुत्ते मंदिरों और गांवों में घूम रहे हैं, लोगों और पशुओं पर हमला कर रहे हैं।

मंगोलियाई कुत्ते की नस्ल तिब्बती मास्टिफ तिब्बत, चीन, भारत, मंगोलिया और नेपाल की खानाबदोश संस्कृति की उत्पत्ति है। मंगोलिया की स्थानीय जनजातियां भेड़ियों, तेंदुओं, भालूओं और बाघों से भेड़ों की रक्षा करने के लिए तिब्बती मास्टिफ का इस्तेमाल करती थीं।

most expensive breed of dogs

दरअसल पिछले दिनों चीन के अधिकतर शहरों में 35 सेंटीमीटर से बड़े कुत्तों के पालने पर पाबंदी लगा दी गई है। इससे इन कुत्तों की कीमतों में भारी गिरावट आई है। इस स्थिति में ये आम लोगों के साथ अन्य पालतु पशुओं के लिए खतरा बन गए हैं। ये भोजन के लिए जानवरों और लोगों पर हमला कर रहे हैं। बीजिंग और शंघाई समेत कई शहरों ने नागरिकों पर 35 सेंटीमीटर या उससे अधिक ऊंचाई वाले कुत्तों को पालने पर रोक लगा दी है।

तिब्बती मेस्टिफ दुनिया की सबसे महंगी नस्ल का डॉग है। इस नस्ल के डॉग को क्वीन विक्टोरिया, किंग जॉर्ज चतुर्थ और चंगेज खान भी पालते थे। बताया जाता है कि चंगेज खान की सेना में इस नस्ल के हजारों डॉग्स थे। चीन में लोग इस तिब्बती मेस्टिफ को लकी मानते हैं। खासकर लाल रंग के मेस्टिफ को। क्योंकि इस रंग के कुत्ते को वहां स्वास्थ्य और सुरक्षा के लिए भाग्यशाली माना जाता है।

ये है खास-
मेल मेस्टिफ की ऊंचाई 26 इंच तथा फीमेल की 24 इंच तक होते हैं। मेस्टिफ किसी भी तापमान में रह सकता है। पूरे मैच्योर होने में इन्हें 4 से 7 साल लगते हैं।

 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned