संयुक्त राष्ट्र के हालिया प्रतिबंध उकसाने वाले : उत्तर कोरिया

prashant jha

Publish: Sep, 14 2017 06:28:50 AM (IST)

एशिया
संयुक्त राष्ट्र के हालिया प्रतिबंध उकसाने वाले : उत्तर कोरिया

उत्तर कोरियाई ने कहा कि नए प्रतिबंध गंभीर रूप से उत्तेजक हैं, जिनका उद्देश्य देश को आत्मरक्षा के अपने वैध अधिकार से वंचित करना है।

सियोल: उत्तर कोरिया ने बुधवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा प्योंगयांग पर लगाए प्रतिबंधों को गंभीर रूप से उत्तेजक और आर्थिक नाकेबंदी करार दिया है। 'एफे' की रिपोर्ट के अनुसार, उत्तर कोरियाई विदेश मंत्रालय ने कहा कि नए प्रतिबंध गंभीर रूप से उत्तेजक हैं, जिनका उद्देश्य देश को आत्मरक्षा के अपने वैध अधिकार से वंचित करना और आर्थिक नाकेबंदी कर देश और उसके लोगों को चोट पहुंचाना है। 

नरमी नहीं दिखाने की नसीहत

समाचार एजेंसी 'केसीएनए' द्वारा प्रकाशित बयान में स्पष्ट रूप से इन प्रतिबंधों को खारिज करते हुए कहा गया कि वह परमाणु हथियार कार्यक्रम के उत्तर कोरिया के संकल्प को मजबूती से आगे बढ़ाएंगे और इस लड़ाई के खत्म न होने तक इसमें कोई नरमी नहीं दिखाएंगे। बयान में यह भी कहा गया है कि वह देश की सार्वभौमिकता और अस्तित्व के अधिकार की सुरक्षा के लिए अपनी ताकत बढ़ाने का दोगुना प्रयास करेंगे। 

परमाणु परीक्षणों के खिलाफ नाकेबंदी

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने लगातार परमाणु परीक्षणों के खिलाफ सोमवार को सर्वसम्मति से उत्तरी कोरिया की अर्थव्यवस्था को कमजोर करने के लिए नए प्रतिबंधों को मंजूरी दी है, जिसमें प्योंगयांग के पेट्रोलियम के आयात को सीमित करना और इसके वस्त्र निर्यात पर प्रतिबंध लगाना शामिल है।

हाइड्रोजन बम का परीक्षण

गौरतलब है कि अमरीका की चेतावनी को अनसुना करते हुए उत्तर कोरिया ने हाईड्रोजन बम का परीक्षण किया. भूकंप संबंधी जानकारी देने वाली निगरानी संस्थाओं ने उत्तर कोरिया के मुख्य परमाणु स्थल के निकट 6.3 तीव्रता का विस्फोट दर्ज किया। इसके बाद उत्तर कोरिया ने भी इस परीक्षण की पुष्टि करते हुए कहा कि उसने हाइड्रोजन बम का परीक्षण किया, जो पूरी तरह सफल रहा। यह बम उत्तर कोरिया की लंबी दूरी की मिसाइलों से भी दागा जा सकता है।वहीं समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक, इस धमाके की ताकत पिछले या पांचवें परीक्षण से 9.8 गुना ज्यादा थी और ये काफी प्रभावशाली है। 

Ad Block is Banned