उत्तर कोरिया तोड़ेगा परमाणु परीक्षण स्थल, अमरीका, दक्षिण कोरिया के पत्रकार करेंगे कवर

उत्तर कोरिया ने एक अभूतपूर्व कदम उठाते हुए पत्रकारों को परमाणु परीक्षण स्थल तोड़े जाने को कवर करने की अनुमति दी है।

By:

Published: 23 May 2018, 09:16 PM IST

सियोलः उत्तर कोरिया ने बुधवार को अपने परमाणु परीक्षण स्थल के विध्वंस को कवर करने वाले दक्षिण कोरियाई पत्रकारों की सूची को मंजूरी दे दी। ऐसा कर उत्तर कोरिया ने मीडिया को इस बड़ी विध्वंस घटना की रिपोर्टिग करने की अनुमति दे दी है। दक्षिण कोरिया के एकीकरण मंत्रालय ने यह जानकारी दी है। मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि उत्तर कोरिया को आठ दक्षिण कोरियाई पत्रकारों की सूची भेजी गई जिनमें चार पत्रकार एक न्यूजवायर और चार एक ब्रॉडकास्टर हैं। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार एकीकरण मंत्रालय के प्रवक्ता बैक ताइ-ह्युन ने बताया, "सरकार पुंगी-री परमाणु परीक्षण स्थल के विखंडन को कवर करने की घटना में शामिल होने के लिए हमारी प्रेस टीम को अनुमति मिलने का स्वागत करती है।"

चीन, रूस, अमेरिका और ब्रिटेन के पत्रकार भी करेंगे कवर
उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षण स्थल के विध्वंस करने की घटना को चीन, रूस, अमरीका और ब्रिटेन के पत्रकार भी कवर करेंगे। उत्तर कोरिया ने अपने परमाणु परीक्षण स्थल को तोड़े जाने का गवाह बनने के लिए इस माह के शुरुआत में चीन, रूस, अमेरिका, ब्रिटेन और दक्षिण कोरिया के पत्रकारों को आमंत्रित किया था। जिसके बाद इन सभी देशों ने अपने यहां के पत्रकारों की एक लिस्ट उत्तर कोरिया की सरकार को दी थी।

दरअसल अमरीका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप 12 जून को उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग से मिलने वाले हैं। मंगलवार को ट्रंप ने कहा था कि शायद प्रस्तावित वार्ता में देरी हो। इस बयान के तुरंत बाद अमरीका के विदेश मंत्री माइक पोंपियो ने कहा कि अमरीकी सरकार 12 जून को अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के शीर्ष नेता किम जोंग-उन के बीच होने वाले बैठक की तैयारी में लगी हुई है। विदेश विभाग में संवाददाता सम्मेलन के दौरान पोंपियो ने इस मामले में ट्रंप के उलट बयान दिया। हाल के हफ्तों में दो बार किम से मुलाकात कर चुके पोंपियो ने कहा कि मैं इस बात के लिए 'आशावादी' हूं कि यह ऐतिहासिक बैठक जरूर होगी। उत्तर कोरिया ने पिछले हफ्ते कहा था कि ट्रंप के साथ बैठक खतरे में है, क्योंकि व्हाइट हाउस प्योंगयांग पर एकतरफा 'निरस्त्रीकरण' का दबाव डाल रहा है।

 

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned