FATF ग्रे लिस्ट से बाहर आने को बेताब पाकिस्तान, बैंकॉक वार्ता में 125 सवालों पर सौंपी सफाई

FATF ग्रे लिस्ट से बाहर आने को बेताब पाकिस्तान, बैंकॉक वार्ता में 125 सवालों पर सौंपी सफाई

Shweta Singh | Updated: 10 Sep 2019, 03:01:19 PM (IST) एशिया

  • जवाब संतोषजनक नहीं हुए तो ब्लैकलिस्ट हो जाएगा पाक
  • अक्टूबर में आएगा पाकिस्तान के भाग्य का फैसला

बैंकॉक। आतंकियों की पनाहगाही और वित्तपोषण के लिए कुख्यात पाकिस्तान अपनी छवि सुधारने के लिए भरपूर कोशिश कर रहा है। अपनी इन्हीं हरकतों के कारण पाकिस्तान इस वक्त FATF (फाइनेंशल एक्शन टास्क फोर्स) की ग्रे लिस्ट में है। इस सूची से बाहर आने को छटपटा रहे पाकिस्तान ने सोमवार को FATF के 125 सवालों का विस्तार से जवाब सौंपा है।

ये जवाब ही FATF में पाकिस्तान का भाग्य तय करेंगे। अगर पाक के जवाब संतोषजनक नहीं हुए तो वह ब्लैकलिस्ट में डाल दिया जाएगा। आपको बता दें कि FATF एक संस्था है, जो अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद के वित्तपोषण की निगरानी करती है।

पाकिस्तान के वित्त मंत्री हमद अजहर ने सौंपा जवाब

बैंकॉक में पाकिस्तान की तरफ से FATF वार्ता का नेतृत्व कर रहे पाकिस्तान के वित्त मंत्री हमद अजहर ने जवाबों वाली रिपोर्ट सौंपी है। पाक की ओर से 15 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल रविवार को बैंकॉक पहुंचा था। सोमवार को FATF के एशिया प्रशांत संयुक्त समूह ने अन्य देशों के साथ मिलकर पाकिस्तान की अनुपालन रिपोर्ट की समीक्षा करने के लिए चार दिवसीय बैठक शुरू कर दी है। समूह संयुक्त रूप से मंगलवार को पाकिस्तान द्वारा प्रस्तुत रिपोर्ट पर चर्चा करेगा। ये वार्ता 13 सितंबर तक जारी रहेगी।

अक्टूबर में होगा फैसला

बता दें कि पेरिस में 16-18 अक्टूबर को होने वाली FATF की बैठक के बाद पाकिस्तान की किस्मत का फैसला लिया जाएगा। तब ही इस बात का खुलासा होगा कि पाकिस्तान ग्रे लिस्ट में रहेगा, लिस्ट से बाहर आएगा या फिर ब्लैकलिस्ट में डाल दिया जाएगा।

22 अगस्त को ब्लैकलिस्ट हुआ था पाक

FATF की बैठक में मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकी फंडिंग पर लगाम लगाने के लिए इस्लामाबाद ने क्या कदम उठाए हैं, इसपर विचार किया जा रहा है। इसके साथ ही पाकिस्तानी अधिकारियों को गैरकानूनी गतिविधियों को रोकने और गैरकानूनी संगठनों और समूहों की संपत्ति को फ्रीज करने के कदमों के बारे में पूछताछ की जाएगी। गौरतलब है कि इससे पहले 22 अगस्त को एशिया पैसिफिक ग्रुप (APG) ने पाकिस्तान को मानदंड पूरा ना कर पाने के कारण ब्लैक लिस्ट में भी डाल दिया था।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned