उत्तर कोरिया दाने-दाने को मोहताज, संयुक्त राष्ट्र ने की दान करने की अपील

उत्तर कोरिया दाने-दाने को मोहताज, संयुक्त राष्ट्र ने की दान करने की अपील

Mohit Saxena | Publish: May, 14 2019 05:58:29 PM (IST) | Updated: May, 14 2019 06:11:00 PM (IST) एशिया

  • फूड एंड एग्रीकल्चर ऑर्गेनाइजेशन की रिपोर्ट में खुलासा
  • एक करोड़ लोग खाने की कमी से जूझ रहे हैं
  • परमाणु निरस्त्रीकरण को लेकर वार्ता आगे नहीं बढ़ी

सियोल। अमरीकी प्रतिबंधों के कारण उत्तर कोरिया दाने-दाने को मोहताज हो गया है। यहां पर भुखमरी जैसे हालात उत्पन्न हो गए हैं। संयुक्त राष्ट्र के वर्ल्ड फूड प्रोग्राम (डब्लूएफपी) प्रमुख डेविड बेसले ने इस समस्या को खत्म करने के लिए दान देने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि वे ये सुनिश्चित करेंगे कि यहां लोगों तक खाना पहुंचे। उत्तर कोरिया में खाने की कमी को लेकर फूड एंड एग्रीकल्चर ऑर्गेनाइजेशन की रिपोर्ट को लेकर बेसले सियोल गए। यहां उन्होंने एक मंत्री से मुलाकात की। इन रिपोर्ट्स के आधार पर करीब एक करोड़ लोग (कुल जनसंख्या का 40 फीसदी) खाने की कमी से जूझ रहे हैं।

सूडान: बेदखल राष्ट्रपति बशीर पर प्रदर्शनकारियों की हत्या कराने का आरोप

80 लाख डॉलर का सहायता पैकेज

बेसले की मुलाकात से पहले बीते हफ्ते दक्षिण कोरिया की सरकार ने अपने पड़ोसी देश को खाने की सहायता देने की बात कही है। इससे पहले साल 2017 में भी दक्षिण कोरियाई सरकार ने उत्तर कोरिया की मदद की पेशकश की थी। इसके लिए एक सहायता पैकेज को मंजूरी दी थी। जिसकी कीमत करीब 80 लाख डॉलर थी। हालांकि यह पैकेल अभी तक भेजा नहीं जा सका है इसके पीछे का कारण है परमाणु निरस्त्रीकरण में कोई प्रगति ना आना है। इससे पहले 2010 में सिओल ने उत्तर कोरिया को 5 हजार टन चावल सहायता के रूप में पहुंचाया था।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned