बेहद कड़ा रहेगा 14 कोसी परिक्रमा 2018 का सुरक्षा घेरा प्रशाशन ने मांगी एटीएस कमांडो टीम

आतंकी हमले की आशंका से घिरी रहने वाली अयोध्या की सुरक्षा में लगायी गयी सुरक्षाकर्मियों की फ़ौज ड्रोन कैमरा करेगा निगरानी

By: अनूप कुमार

Published: 15 Nov 2018, 05:39 PM IST


अयोध्या : रामनगरी अयोध्या के चतुर्दिक प्रसिद्ध 14 कोसी परिक्रमा शुक्रवार से शुरू होगी।14 कोसी परिक्रमा का शुभ मुहूर्त कल सुबह 7 बजे शुरू होगा जो 17 नवंबर को सुबह 10:30 तक रहेगा ।14 कोसी परिक्रमा अक्षय नवमी को प्रारंभ होती है। इस प्रसिद्ध 14 कोसी परिक्रमा में देश के लाखों श्रद्धालु भाग लेते हैं।परिक्रमा की सुरक्षा व्यवस्था के लिए जिला प्रशासन ने एटीएस कमांडो की मांग की है जबकि 6 कंपनी पीएसी एक कंपनी आरएफ के साथ परिक्रमा की निगरानी के लिए ड्रोन कैमरे का भी इस्तेमाल किया जा रहा है। अयोध्या की प्रसिद्ध 14 कोसी परिक्रमा कल अक्षय नवमी पर सुबह 7 बजे से प्रारंभ होगी। इस प्रसिद्ध 14 कोसी परिक्रमा में देश के लाखों श्रद्धालु लगभग 42 किलोमीटर की परिक्रमा करते हैं। यह परिक्रमा अयोध्या और फैजाबाद की परिधि में होती है। अयोध्या की संवेदनशीलता को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था के लिए जिला प्रशासन ने शासन से एटीएस कमांडो की भी मांग की है।

आतंकी हमले की आशंका से घिरी रहने वाली अयोध्या की सुरक्षा में लगायी गयी सुरक्षाकर्मियों की फ़ौज ड्रोन कैमरा करेगा निगरानी

भारी भीड़ को देखते हुए जिला प्रशासन ने चार पहिया व दुपहिया वाहनों के लिए रूट डायवर्जन भी किया है। भीड़ को नियंत्रित करने के लिए सभी एंट्री प्वाइंट पर सुरक्षा के मद्देनजर दोहरी बैरिकेडिंग की जा रही है।इस बार शहर के मौदहा रेलवे क्रॉसिंग पर माल गाड़ियों की सेंटिंग के लिए जिला प्रशासन ने रेलवे विभाग को पत्र लिखकर कहा है कि वह परिक्रमा के दौरान माल गाड़ियों की सेंटिंग ना करें।पिछले वर्ष परिक्रमा के दौरान भारी भीड़ अनियंत्रित हो गई थी जिसको संभालने में जिला प्रशासन के पसीने छूट गए थे। भारी भीड़ को देखते हुए फैजाबाद के अलावा अन्य जनपदों से भी फोर्स मंगाई गई है।6 कंपनी पीएसी एक कंपनी आरएफ 5 एडिशनल एसपी 15 डिप्टी एसपी 30 इंस्पेक्टर 150 हेड कांस्टेबल व 500 सिपाहियों के हवाले पूरी परिक्रमा को किया गया है। परिक्रमा पर नजर रखने के लिए ड्रोन कैमरे का भी इस्तेमाल किया जाएगा। इसके साथ ही शोहदों पर नजर रखने के लिए सादी वर्दी में भी महिला विंग तैनात रहेगी। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार भगवान राम जब लंका विजय कर अयोध्या लौटे तो उनके स्वागत में दीपावली मनाई गई छप्पन भोग भी खिलाया गया इसके बाद भगवान श्री राम अपने भाइयों के साथ इसी 14 कोसी परिक्रमा पथ पर अयोध्या वासियों का हाल-चाल लिया था जिसके बाद से इसी के तहत 14 कोसी परिक्रमा की परंपरा चलती आ रही है।

अनूप कुमार Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned