इस घटना से उड़ी सुरक्षा एजेंसियोंं की नींद, आजमगढ़ फिर चर्चा में...

महाराजगंज पुलिस ने किया एक ही व्यक्ति द्वारा नाम बदलकर दो-दो पासपोर्ट जारी करा लिये जाने की घटना का पर्दाफाश

आजमगढ़. जनपद में एक ही व्यक्ति द्वारा नाम बदलकर दो-दो पासपोर्ट जारी करा लिये जाने की घटना से पुलिस के साथ ही स्थानीय खुफिया एजेंसी की नींंद उड़ गयी है। आजमगढ़ जैसे संवेदनशील जनपद में आंतरिक सुरक्षा व्यवस्था को कठघरे में खड़ा कर देने वाली इस घटना का महाराजगंज पुलिस ने पर्दाफाश किया है। आंतरिक सुरक्षा पर प्रश्न चिन्ह लगाती दो पासपोर्ट बनवाने के मामले में पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कर तहकीकात शुरू कर दी है। पुलिस को अंदेशा है कि इस तरह के कई और भी मामले हो सकते हैं।

 


जानकारी के अनुसार महराजगंज थाना क्षेत्र के सिकंदरपुर ग्राम निवासी मोहम्मद साकिब पुत्र मोहम्मद मुमताज ने वर्ष 1996 में अपने नाम से पासपोर्ट जारी कराया था। वह नौकरी के लिये विदेश भी चला गया था। वीजा की अवधि समाप्त हो जाने के बाद विदेश से स्वदेश लौटे मोहम्मद साकिब ने पासपोर्ट की वैधता अवधि समाप्त हो जाने के बाद नवीनीकरण नहीं कराया। साकिब ने परिवार रजिस्टर में अपना नाम बदलवाकर फर्जी तरीके से सन 2011 में दूसरा पासपोर्ट जारी करा लिया। साकिब ने जालसाजी की इस प्रक्रिया को इतनी सफायी से अंजाम दिया कि किसी को इसकी कानों-कान भनक तक नहीं लगी। हाल ही में जब सिकंदरपुर गांव के प्रधान मोहम्मद अफजल पुत्र मोहम्मद को जब इसकी जानकारी हुई तो उनके होश उड़ गए। सकते में आये प्रधान ने पुलिस को वाकये से अवगत कराते हुए लिखित शिकायत की। शिकायत मिलने पर सक्रिय हुए प्रशासन ने संबंधित थाने एवं स्थानीय खुफिया इकाई से मामले की जांच करायी, जिसमें ग्राम प्रधान की शिकायत सही पायी गयी। पुलिस ने शनिवार को महाराजगंज थाने में सिकंदरपुर गांव के प्रधान मोहम्मद अफजल की तहरीर पर आरोपी मोहम्मद साकिब के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

 

 

पुलिस की लापरवाही उजागर
पासपोर्ट बनवाने की प्रक्रिया का अभिन्न अंग पुलिस द्वारा जांच भी है। पुलिस की जांच रिपोर्ट मिलने के बाद ही पासपोर्ट जारी किया जाता है। एक ही व्यक्ति द्वारा दो नाम से पासपोर्ट बनवाये जाने का मामला सामने आने के बाद एक बार फिर पुलिस की भूमिका संदेह के घेरे में आ गयी है। मामला उजागर करने को लेकर पुलिस महकमा भले ही अपनी पीठ थप-थपाये, लेकिन हकीकत यही है कि इससे पुलिस की लापरवाही उजागर हुई है।

 

Input By : Ranvijay Singh

वाराणसी उत्तर प्रदेश
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned