ऑटो चालकों ने उठाया सड़क नहीं तो रोड टैक्स नहीं का मुद्दा, पुलिस पर भी गंभीर आरोप

डीएम कार्यालय पर किया धरना प्रदर्शन, ज्ञापन सौंप पुलिस द्वारा की जा रही अवैध वसूली रोकने की मांग

By: Neeraj Patel

Published: 26 Aug 2020, 09:18 PM IST

आजमगढ़. जिले की पुलिस पर एक बार फिर गंभीर आरोप लगा है। आटो चालकों ने बुधवार को पुलिस के खिलाफ डीएम कार्यालय पर प्रदर्शन किया और आरोप लगाया कि कोरोना काल में चेंकिग और प्रोटोकाल का पालन कराने के नाम पर खुलेआम वसूली की जा रही है। इस दौरान चालकों ने सड़कों की मरम्मत पूरी न होने तक रोड टैक्स न लेने की भी मांग की। आटो चालकों ने डीएम को ज्ञापन सौंप तत्काल कार्रवाई की मांग की मांग पूरी न होने पर बड़े आंदोलन की चेतावनी दी।

आटो रिक्शा चालक समिति के बैनर तले सड़क पर उतरे आटो चालकों ने शासन और प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। आटो चालक जुलूस निकालकर प्रदर्शन करते हुए डीएम कार्यायल पहुंचे। अध्यक्ष कृपा शंकर पाठक ने कहा कि कोरोना संक्रमण के दौरान आटो चालक प्रोटोकाल का पूरी तरह पालन कर रहे है। इसके बाद भी पुलिस द्वारा उनका उत्पीड़न किया जा रहा है। जगह-जगह उनसे अवैध वसूली की जा रही है। पुलिस वाले चलान के नाम पर 500 रूपये ले रहे हैं और 100 रूपये जमा कर रहे हैं 400 इनकी जेब में जा रहा है। आटो चालकों का उत्पीड़न बंद होना चाहिए। यूपी में हम करोड़ों का टैक्स देते हैं लेकिन एक भी सड़क ठीक नहीं है।

अगर आप सड़क ठीक नहीं कर सकते तो टैक्स मत लीजिए। जब सड़क ठीक हो जाय तो हम टैक्स भी देने के लिए तैयार हैं। महानगरों से जो ट्रेनों का संचालन किया जाय लेकिन प्लेटफार्म टिकट जो 50 रूपये किया गया है उसे कम किया जाय। जब से महामारी फैली है रोजी रोटी का साधन बंद है। इसके बाद भी सरकारी और प्राइवेट बैंक के लोग घर पर दबंग भेजकर वसूली करा रहे हैं। जब तक महामारी समाप्त नहीं होती वसूली बंद करायी जाय। हर कस्बे में आटो चालकों को स्टैंड दिया जाय कारण कि पार्किंग के नाम पर ही पुलिस द्वारा सर्वाधित वसूली की जार रही है। अगर हमारी मांगें पूरी नहीं होती है तो हम आंदोलन के लिए बाध्य होंगे।

Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned