बाहुबली अखंड प्रताप सिंह पर एडीजे के हत्या प्रयास की साजिश का आरोप

दही बेचने के बहाने गुर्गा पहुंच गया था जज के आवास तक, हरकत में आयी शहर कोतवाली पुलिस, प्रमुख सहित दो पर मुकदमा

आजमगढ़. बसपा मुखिया पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के करीबी बाहुबली बसपा नेता अखंड प्रताप सिंह पर एडीजे फस्ट लालता प्रसाद की हत्या के प्रयास का आरोप लगा है। अखंड का गुर्गा दही बेचने के बहाने शुक्रवार को एडीजे आवास में घूस गया था लेकिन उस समय एडीजे बाथरूम में थे। इसके पूर्व एडीजे को एक पत्र मिला था जिसपर किसी का नाम तो नहीं था लेकिन बाहुबली के मुकदमें को शिथिल करने की चेतावनी दी गयी थी।

घटना से हड़कंप मचा है। शहर कोतवाली पुलिस ने अखंड व एक अज्ञात गुर्गे के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ममाले की जांच में जुट गयी है। वहीं एडीजे की सुरक्षा भी बढ़ा दी गयी है। बता दें कि बसपा नेता बाहुबली अखंड प्रताप सिंह पर मशहूर ट्रांसपोर्टर धनराज यादव की हत्या सहित तीन दर्जन से अधिक आपराधिक ममाले दर्ज है। पिछले दिनों पुलिस ने अखंड पर दो लाख का ईनाम घोषित करते हुए घर की कुर्की करायी थी। दिसंबर माह में अखंड ने न्यायालय के सामने समपर्ण कर दिया था।

अखंड के समर्पण के पूर्व ही एडीजे के आवास पर एक पत्र फेंका गया था जिसमें उन्हें अखंड प्रताप के मुकदमें में शिथिलता बरतने की हिदायत दी गयी थी लेकिन उस पत्र पर किसी का नाम नहीं था। इस ममाले की जांच चल रही थी कि अखंड जेल चला गया।

इसी बीच शुक्रवार को दिन में एडीजे आवास पर बाथरूम में थे उसी दौरान सुरक्षा को धता बताते हुए एक युवक दही बेचने के बहाने उनके आवास में घुस गया। उसने आवाज भी लगाया लेकिन एडीजे बाथरूम में होने के कारण देर से बाहर निकले। उन्हें घर में न पाकर युवक वापस लौट गया।

जब वे बाहर निकले तो आवास पर मौजूद कर्मचारियों ने बताया की वह दही बेचने वाला है। ऐसे में एडीजे का दीमाग ठनका कि इतनी सुरक्षा के बाद भी युवक कैसे भीतर घुस गया। इस संबंध में उन्होंने एसपी त्रिवेणी सिंह से बात की। एसपी के निर्देश पर शहर कोतवाल अनिल सिंह ने बाहुबली अखंड प्रताप सिंह को नामजद और एक अज्ञात के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज करायी है।

इस मामले की गहनता से जांच पड़ताल की जा रही। ताज्जूब की बात तो यह है की सरकार के आदेश पर पुलिस जहां सुरक्षा के तमाम तरह के इंतजामात किए है। वहीं सुरक्षा को धत्ता बताकर युवक के एडीजे के आवास में घूसने से सुरक्षा व्यवस्था की भी पोल खुल गयी। पुलिस आरोपी की पहचान के लिए सीसीटीवी फुटेज आदि खंगाल रही है। बताया की एडीजे की सुरक्षा बढ़ा दी गयी है। मामले की जांच की जा रही।

Ashish Shukla Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned