फर्नीचर व्यवसायी की गोली मारकर हत्या, जांच में जुटी पुलिस

फर्नीचर व्यवसायी की गोली मारकर हत्या, जांच में जुटी पुलिस
आजमगढ़ में हत्या

Akhilesh Kumar Tripathi | Updated: 23 Jan 2018, 09:37:24 PM (IST) Azamgarh, Uttar Pradesh, India

घटना के खुलासे के लिए मंगलवार की सुबह डाग स्क्वॉयड टीम को भी मौके पर बुलाया गया।

आजमगढ़. जीयनपुर कोतवाली क्षेत्र के छत्तरपुर चकिया गांव में सोमवार की रात करीब दस बजे मोबाइल फोन पर आई काॅल पर बात करते हुए घर से बाहर निकले 20 वर्षीय फर्नीचर व्यवसायी की गोली मारकर निर्मम हत्या कर दी गई। घटना की जांच में जुटी पुलिस के हाथ अभी खाली है। घटना के खुलासे के लिए मंगलवार की सुबह डाग स्क्वॉयड टीम को भी मौके पर बुलाया गया। खोजी कुतियाकी मदद से पुलिस घटना को अंजाम देने वाले की सुराग में जुटी है। इस घटना को लेकर क्षेत्र में तरह-तरह की चर्चा है।

 


जीयनपुर कोतवाली क्षेत्र के छत्तरपुर चकिया ग्राम निवासी श्रवण कुमार यादव (20) पुत्र बहोर यादव परिवार की आजीविका चलाने के लिए स्थानीय अंजान शहीद बाजार में फर्नीचर का व्यवसाय करता था। सोमवार की रात करीब 8 बजे वह अंजान शहीद बाजार में आयोजित दावत में शामिल होकर अपने घर लौटा। रात करीब दस बजे वह टीवी पर प्रसारित कार्यक्रम देख रहा था। इसी दौरान उसके मोबाइल फोन की घंटी बजी और वह बात करते हुए घर से बाहर निकल गया। रात करीब एक बजे दरवाजे पर बैठे जानवरों के खूंटे से खुल जाने की आशंका पर परिवार का कोई सदस्य घर से बाहर निकला तो घर के शौचालय के नजदीक श्रवण निर्जीव हालत में पड़ा पाया।

 

 

 

 

Furniture businessman (File photo)

इस दौरान परिजनों ने यह सोचा कि शायद ठंड लगने के कारण वह अचेत हो गया है। आनन फानन उसे जिला अस्पताल लाया गया जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया। सिर में गोली के जख्म देख चिकित्सक ने उसकी हत्या की आशंका जताई। इसकी सूचना रात में ही जीयनपुर कोतवाली को दी गई। हत्या की खबर पाकर रात में ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। मंगलवार की सुबह पुलिस अधीक्षक ग्रामीण एनपी सिंह मौके पर पहुंचे। उनके निर्देश पर डॉग स्क्वायड टीम को जिला मुख्यालय से बुलाया गया।

Police team

घटनास्थल पर पहुंची खोजी कुत्तिया अपने ट्रेनर के साथ शव मिलने वाले स्थान से आगे बढ़ी और गांव के ही एक मकान के बाहर रखी चारपाई के पास जाकर रुक गई। इसके बाद पुलिस के शक की सुई उस परिवार की ओर घुमी लेकिन परिवार में कोई पुरुष सदस्य न होने के कारण पुलिस अन्य बिंदुओं पर भी जांच करने लगी। बताते हैं कि जिस परिवार के पास खोजी कुत्तिया रुकी पुरुष सदस्य कमाने की गरज से मुंबई रहते हैं। परिवार में केवल गृहस्वामी की पत्नी और उसकी 18 वर्षीय पुत्री रहते हैं। घटना के संबंध में पुलिस अधीक्षक ग्रामीण का कहना है कि जांच में जुटी पुलिस को कुछ अहम बिंदु हाथ लगे हैं, शीघ्र ही घटना का पर्दाफाश कर दिया जायेगा।

 

BY- RANVIJAY SINGH

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned