अराजकतत्वों ने प्रतिबंधित पशु काट थाने के सामने खेत में फेंका, फूटा गुस्सा

थाने के ठीक सामने शव मिलने से मची सनसनी

ग्रामीणों ने पुलिस पर लगाया लापरवाही का आरोप, कार्रवाई की मांग की

आजमगढ़. प्रतिबंधित पशु की हत्या कर शव गंभीरपुर थाना के ठीक सामने स्थित खेत में फेंक अराजकतत्वों ने सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश की। शुक्रवार की सुबह शव मिलते ही क्षेत्र में सनसनी फैल गयी। चुंकि शव थाने के सामने मिला था इसलिए लोगों का गुस्सा और बढ़ गया। ग्रामीणों ने पुलिस पर शिथिलिता का आरोप लगाते हुए आरोपियों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की मांग की। चैकीदार की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

गंभीरपुर थाना के ठीक सामने लगभग डेढ़ सौ मीटर दूर स्थित खेत में गुरुवार की रात कसाइयों ने प्रतिबंधित मवेशी का वध किया। शुक्रवार की सुबह ग्रामीण खेत में कटे हुए प्रतिबंधित मवेशी का शव पड़ा देख सन्न रह गए। थोड़ी ही देर में यह खबर पूरे क्षेत्र में फैल गयी और सैकड़ों की संख्या में लोग मौके पर पहुंच गए।

भाजपा नेता विजय मिश्र, अरविद यादव, मंजू सरोज भी मौके पर आ गए। प्रतिबंधित पशु का वध किसने किया और शव वहां कैसे पहुंचा पुलिस के पास कोई जवाब नहीं था। भीड़ बढ़ती देख थानाध्यक्ष राकेश कुमार सिंह ने आलाधिकारियों को सूचना दी।

इसके बाद अपर पुलिस अधीक्षक नगर पंकज कुमार पांडेय, अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण सिद्धार्थ भी मौके पर पहुंच गए। आक्रोशित ग्रामीणों ने थाने के सामने हुई इस विभत्स घटना को लेकर खाकी की नियति पर सवाल उठाया और प्रदर्शन शुरू कर दिया।

अपर पुलिस अधीक्षक ने लोगों को समझा बुझाकर शांत कराया। इसके बाद थानाध्यक्ष ने मुहम्मदपुर के पशु चिकित्साधिकारी डा. लालजी यादव को बुलाकर शव का पोस्टमार्टम कराया तथा गड्ढा खेदवाकर उसे दफन करा दिया।

BY Ran vijay singh

Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned