Corona effect: 20 से 25 फीसदी रह गई पेट्रोल-डीजल की खपत

-प्रदेशभर में 4 हजार 300 पेट्रोल पम्प

By: Teekam saini

Published: 04 Apr 2020, 08:49 PM IST

जयपुर. कोरोना वायरस के कारण जयपुर-दिल्ली हाइवे सहित शहर-गांवों की सड़कों पर सन्नाटा पसर गया है। खाद्य पदार्थों व आवश्यक सेवाओं के इसके अलावा अन्य वाहनों का संचालन थमा हुआ है। ऐसे में शाहपुरा में नेशनल हाइवे, स्टेट हाइवे व गांव-शहरों में खुले पेट्रोल पम्पों पर पेट्रोल व डीजल की बिक्री भी कम हो गई है। यहीं हाल प्रदेशभर के पेट्रोल पम्पों का है। प्रदेशभर में करीब 4 हजार 300 पेट्रोल पम्प हैं। लॉकडाउन से वाहनों के पहिए थमने के कारण पेट्रोल पम्पों पर डीजल व पेट्रोल की बिक्री 75-80 फीसदी कम हो गई है। लॉक डाउन से पहले प्रदेश में रोजाना 1.50 करोड़ लीटर डीजल की बिक्री होती थी, जबकि वर्तमान में 30 लाख लीटर की ही बिक्री हो रही है। यहीं हालत पेट्रोल के है। पहले 22 लाख लीटर रोजाना बिकता था, लेकिन अब 6-7 लाख लीटर ही बिक रहा है। यहां शाहपुरा नगरपालिका में संचालित 4 पेट्रोल पम्पों पर भी पेट्रोल-डीजल की खपत कम हो गई है। रोजाना डीजल व पेट्रोल की केवल 4 लाख रुपए की ही खपत हो रही है। जबकि लॉक डाउन से पहले रोजाना कम से कम 20 लाख रुपए का डीजल-पेट्रोल बिकता था।
घरों पर खड़े है ट्रक-ट्रोले
शाहपुरा में सबसे ज्यादा ट्रांसपोर्ट का व्यवसाय है। जिससे अधिक ट्रक-ट्रोले चलते है। लॉक डाउन के चलते ये ट्रक-ट्रोले घरों व हाइवे की सर्विसलेन पर खड़े है। जयपुर-दिल्ली हाइवे पर बड़े वाहन चल रहे है, जो महज आवश्यक सामग्री के परिवहन में उपयोग में लिए जा रह है। उनकी संख्या भी गिनती की है। ऐसे में पेट्रोल पम्पों से डीजल भरवाने के लिए ट्रक, टैंकर या ट्रेलर चालक नहीं पहुंच रहे है। इस वजह से पेट्रोल व डीजल की खपत कम हो गई है।
फैक्ट फाइल
4300 प्रदेश में कुल पेट्रोल पम्प
1.50 करोड़ लीटर पहले डीजल की बिक्री
22 लाख लीटर पहले पेट्रोल की बिक्री
30 लाख लीटर अब डीजल की बिक्री
6-7 लाख लीटर अब पेट्रोल की बिक्री

Teekam saini Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned