Education: ये कैसा परिणाम, सभी छात्रों के अंक शून्य

राजकीय सीताराम पंसारी आईटीआई, संस्थान के मुख्य द्वार के बाहर दिया धरना

By: Teekam saini

Published: 20 Jan 2020, 11:43 PM IST

कोटपूतली (Education). राजकीय सीताराम पंसारी आईटीआई के सभी छात्रों के वार्षिक परीक्षा में शून्य अंक आने के विरोध में सोमवार को छात्रों ने संस्थान के मुख्य द्वार के बाहर धरना देकर प्रदर्शन किया। अभिभावकों ने भी सभी छात्रों को शून्य अंक मिलने पर नाराजगी जताई। इस संस्थान के इलेक्ट्रीशियन के 40, डीजल मैकनिक के 40 व फीडर ट्रेड के 20 विद्यार्थियों ने वार्षिक परीक्षा दी थी, लेकिन इन छात्रों के घोषित परिणाम में सभी को शून्य अंक मिलने पर विद्यार्थी सन्न रह गए। छात्रों ने इसके विरोध में मुख्य द्वार के बाहर धरना दिया। आईटीआई में वर्ष 2013 से इलेक्ट्रीशियन की 4 व डीजल मैकेनिक और फीडर की 2-2 यूनिट संचालित है। प्रत्येक यूनिट में 20 छात्र होते हैं। वर्ष 2013 के बाद ट्रेड व यूनिट में कोई बढ़ोतरी नहीं हुई। गौरतलब है कि इससे पहले आइटीआई की परीक्षा में अलग अलग सेमेस्टर होते थे, लेकिन इस सत्र से राष्ट्रीय स्तर पर वार्षिक परीक्षा शुरू की गई थी। इसके लिए साूफ्टवेयर में बदलाव किया गया था। संस्थान के अधीक्षक जीतसिंह यादव ने धरने पर बैठे छात्रों को समझाकर शांत किया और कहा कि तकनीकी भूल के चलते सभी के शून्य अंक दर्ज हो गए। इस बारे में उच्च अधिकारियों को अवगत करा दिया गया है।
इनका कहना है
पोर्टल में तकनीकी विसंगति होने से सभी छात्रों के परिणाम में शून्य अंक दर्ज हो गए। इसे ठीक करने के लिए विभागीय स्तर पर कार्रवाई चल रही है।
जीतसिंह यादव, अधीक्षक, संस्थान

 
Teekam saini
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned