लापरवाही पर गिरी गाज: प्रभारी निलंबित पूरी पुलिस चौकी को किया लाइन हाजिर

लापरवाही पर गिरी गाज: प्रभारी निलंबित पूरी पुलिस चौकी को किया लाइन हाजिर

Ramakant Dadhich | Publish: Aug, 08 2019 11:43:47 PM (IST) Bagru, Jaipur, Rajasthan, India

खेजरोली पुलिस चौकी के पूरे स्टाफ पर कार्रवाई करते हुए पांच पुुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर एवं प्रभारी को निलंबित कर दिया है।  गौरतलब है कि करीब एक पखवाड़ा पहले खेजरोली गांव में दो पक्षों में हुई मारपीट में घायल की बुधवार रात जयपुर के एक निजी चिकित्सालय में इलाज के दौरान मौत हो गई।

गोविन्दगढ़. मारपीट के मामले मे कार्रवाई नहीं करने के आरोप में जिला पुलिस अधीक्षक ग्रामीण ने खेजरोली पुलिस चौकी के पूरे स्टाफ पर कार्रवाई करते हुए पांच पुुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर एवं प्रभारी को निलंबित कर दिया है।  गौरतलब है कि करीब एक पखवाड़ा पहले खेजरोली गांव में दो पक्षों में हुई मारपीट में घायल की बुधवार रात जयपुर के एक निजी चिकित्सालय में इलाज के दौरान मौत हो गई। इस पर गुस्साए परिजनों एवं ग्रामीणों ने गुरुवार को खेजरोली चौकी पुलिस के खिलाफ गोविन्दगढ़ थाने पर प्रदर्शन किया। ग्रामीणों का आरोप था कि मारपीट के बाद घायल के पुलिस चौकी पहुंचने पर भी पुलिस ने कार्रवाई सूचना पर एएसपी श्यामसिंह समेत अन्य पुलिस अधिकारी व जाब्ता मौके पर पहुंचा। ग्रामीणों ने पुलिस पर कार्रवाई एवं आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की, जिस पर जिला पुलिस अधीक्षक ग्रामीण शंकरदत्त शर्मा ने चौकी प्रभारी को निलम्बित तथा पांच पुलिसकर्मियों को जिला पुलिस लाइन हाजिर कर दिया। इसके बाद गुस्साए लोग शंात हुए। प्रदर्शन कर रहे परिजनों ने बताया कि बंशीधर यादव के पुत्र नेमीचन्द की गणगौरी बाजार खेजरोली मेें कपड़े की दुकान है, 22 जुलाई को खेजरोली निवासी विकास बराला, राहुल बराला, राजेन्द्र बराला सहित अन्य लोगों ने पहुंचकर झगड़ा कर लिया, जिसकी जानकारी नेमीचन्द यादव ने परिजनों को जानकारी दी तो वे मौके पर पहुंच गए। इसी दौरान बाजार के व्यापारियों ने मामला शांत करवाया, लेकिन इसके बाद आरोपियों ने घर पर पहुंच बंशीधर समेत परिवार की महिलाओं पर लाठियों से हमला कर दिया। घटना में झगडेल की ढाणी बरालों का बाढ निवासी बंशीधर (60) पुत्र जोधाराम यादव गम्भीर रूप से घायल हो गया, जिसे अस्पताल में भर्ती करवाया।


ये लगाए चौकी पुलिस पर आरोप
धरनार्थियों का आरोप था कि मारपीट के बाद बंशीधर लहूलुहान हालत में खेजरोली चौकी पहुंचा। लेकिन वहां मौजूद हैड कांस्टेबल शिवपाल ने सुनवाई नहीं की। परिजन बंशीधर को लेकर गोविन्दगढ़ थाने पहुंचे। पीछे से हैड कांस्टेबल शिवपाल भी थाने पहुंच गया, जबकि आरोपी पूर्व से थाने में मौजूद थे। हैड कांस्टेबल ने एक ही गांव के होने की बात कह कर रिपोर्ट दर्ज नहीं की। परिजनों की जिद पर करीब ८ बार रिपोर्ट बदलने के बाद रिपोर्ट ली। २३ जुलाई को जब घायल बंशीधर की तबियत बिगड़ी तो साधारण मामला दर्ज कर लिया, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की। परिजनों का कहना है कि हैड कांस्टेबल ने आरोपियों के अधिक चोट लगने तथा उनका केस मजबूत होने की बात भी कही, जबकि बुधवार देर रात को बंशीधर की इलाज के दौरान मौत हो गई।
बंशीधर की मौत से गुस्साए परिजन तथा ग्रामीण थाना परिसर मेें धरने पर बैठ गए। मामले की गम्भीरता को लेकर जयपुर ग्रामीण एएसपी श्यामसिंह, गोविन्दगढ़ सीओ शैतान सिंह सहित जयपुर लाइन से अतिरिक्त जाब्ता थाने पहुंचा, लेकिन परिजन एवं ग्रामीण दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्यवाही करने तथा आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग पर अड़े रहे। एएसपी ने पूर्व प्रधान भगवानसहाय धांसिल, पूर्व सरपंच नन्दकिशोर यादव सहित मृतक के परिजनों को बुलाकर थानाधिकारी कक्ष में मामले की जानकारी ली। इसके बाद उच्चाधिकारियों को अवगत करवाया। एडिशनल एसपी ने एसपी को मामले से अवगत करवाया। एएसपी ने धरनार्थियों को पुलिसकर्मियों के खिलाफ, मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम एवं आरोपियों को गिरफ्तार करने का आश्वासन देकर मामला शांत किया। बाद में ग्रामीण एसपी शंकर दत्त शर्मा ने खेजरोली चौकी प्रभारी हैड कांस्टेबल शिवपाल को निलम्बित कर दिया तथा चौकी में तैनात पुलिसकर्मी सुरज्ञान, अशोक कुमार, लालचंद, जगदीश व महेश कुमार को जिला पुलिस लाइन भेजने के आदेश जारी किए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned