सीएम योगी के इस सिंघम के भय से जमानत तुड़वाकर बड़े-बड़े माफिया जेल में दुबके

सीएम योगी के इस सिंघम के भय से जमानत तुड़वाकर बड़े-बड़े माफिया जेल में दुबके
IG Gorakhpur Zone Mohit Agarwal

Shatrudhan Gupta | Updated: 16 Nov 2017, 10:22:28 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

अपराधी या तो जेल में रहें या फिर प्रदेश छोड़कर चले जाएं, नहीं तो उनके लिए बुरा होगा।

बहराइच. उत्तर प्रदेश की सत्ता में काबिज भाजपा सरकार के मुखिया योगी आदित्य नाथ ने सीएम की कुर्सी पर आसीन होते ही सबसे पहले अपराधियों को आगाह करते हुए यह पैगाम दिया था कि अपराधी या तो जेल की सलाखों में पहुंच जाएं या फिर प्रदेश छोड़कर भाग जाएं। मुख्यमंत्री के उस शख्त आदेश का पालन योगी सरकार के गढ़ यानी गोरखपुर जोन में बतौर आईजी के पद का जिम्मा संभालने वाले तेज तर्रार आईपीएस अफसर मोहित अग्रवाल पूरी ईमानदारी और निष्ठा के साथ लगातार निभा रहे हैं। आलम यह है की इस सीनियर पुलिस अधिकारी का खौफ अपराधियों की सेहत पर इस कदर हाबी है कि तमाम नामी-गिरामी, शातिर और माफिया किश्म के अपराधी अपनी जान बचाने के लिये अपनी जमानत की बेल को तुड़वा कर जेल की सलाखों के पीछे रहना खुद के लिए मुफीद समझ रहे हैं।

325 शातिर अपराधी अपनी बेल तुड़वाकर वापस जेल में जा चुके हैं

नगर निकाय चुनाव के मद्देनजर गोरखपुर जोन के आईजी मोहित अग्रवाल बार्डर के जिले बहराइच में पुलिस और कानून व्यवस्था की जमीनी पड़ताल के लिये आये। इस मौके पर मीडिया से मुखातिब होते हुये गोरखपुर जोन के आईजी मोहित अग्रवाल ने अपराधियों के खिलाफ पूरे जोन में अब तक की गयी कड़ी कार्रवाई का पूरा बायोडाटा पेश किया। उन्होंने कहा कि लगभग 325 शातिर अपराधी अपनी बेल तुड़वाकर वापस जेल में अपनी आमद दर्ज करा चुके हैं, जिनमें 95 ऐसे अपराधी हैं, जो शातिर लुटेर, डकैत, चैन स्नैचर और माफिया किश्म के अपराधी थे। उपरोक्त कार्रवाई साफ दर्शा रही है कि अपरधियों में यूपी पुलिस का कितना भय कायम है।

अपराधियों पर की गई एनएसए की कार्रवाई

आईजी मोहित अग्रवाल ने कहा की प्रदेश में अब अपराधियों के लिए कोई जगह नहीं है। अपराधी या तो जेल में रहें या फिर प्रदेश छोड़कर चले जाएं, नहीं तो उनके लिए बुरा होगा। उन्होंने कहा कि अपराधियों के खिलाफ चल रहे अभियान का ही नतीजा रहा की पूरे जोन में 45 अपराधियों के खिलाफ एनएसए की कार्रवाई की गयी है, जिसमें अकेले बहराइच जिले में 12 अपराधियों पर एनएसए लगा है।

करोड़ों की जब्त की गई संपत्ति

बात यहीं तक सीमित नहीं रही, गैंगेस्टर एक्ट की धाराओं में 1200 बदमाशों के खिलाफ कार्रवाई कर करोड़ों की संपत्ति को भी सीज किया गया। उदाहरण के तौर पर गोंडा जिले में एक अपराधी की करीब 4 करोड़ की सम्पति को जब्त करने का काम किया जा चुका है। 2200 अपराधी किश्म के लोगों के खिलाफ गुंडा एक्ट लगाकर जेल की सलाखों के पीछे भेजा जा चुका है। वहीं, पूरे जोन में 72 घंटों में चलाये गए ताबड़तोड़ अभियान के दौरान 18 जिला बदर अपराधियों को दबोचकर जेल की सलाखों में भेजने का पूरा इंतजाम किया गया ह। इसी कड़ी में 10 इनामी अपराधियों पर भी नकेल कसकर जेल की चहारदीवारी के पीछे भेजा गया।

निकाय चुनाव में बवाल करने वाले नहीं बचेंगे

गोरखपुर जोन के आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया की पूरे जोन में ऐसे करीब 12 शातिर अपराधियों के खिलाफ कड़ा एक्शन लिया गया, जिनके कब्जे से करीब 25 करोड़ की अकूत संपप्ति जब्त की गई। उन्होंने कहा कि आगामी दिनों में होने जा रहे नगर निकाय के चुनाव के दौरान खलल पैदा करने वालों को चिन्हित कर शख्त कार्रवाई की जाएगी। इस मौके पर डीआईजी देवीपाटन अनिल कुमार राय, एसपी बहराइच जुगुल किशोर, एसपी सिटी अजय प्रताप, एसपी ग्रामीण रविन्द्र सिंह सहित तमाम पुलिस के आलाधिकारी मौके पर मौजूद रहे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned