जादूटोना के शक मे गेंदलाल की हुई थी हत्या

पुलिस ने दो लोगों को किया गिरफ्तार, भेजा जेल, जामड़ीमेटा अंधेहत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा

By: mukesh yadav

Published: 16 Dec 2018, 03:47 PM IST

किरनापुर। विगत पांच माह पूर्व क्षेत्रांतर्गत ग्राम जामड़ीमेटा में हुए अंधे हत्या कांड की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। पुलिस ने मृतक गेंदलाल मसराम ग्राम जामड़ीमेटा निवासी की हत्या करने के आरोप में इसी गांव के दो आरोपियों देवलाल पिता पोतनसिंह उईके (55) एवं उसके साथी ओपनसिंह पिता कुंवर सिंह उईके (30) को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस अधीक्षक जयदेवन ए के नेतृत्व एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संदेश जैन तथा एसडीओपी रामनरेश पचौरी के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी किरनापुर अजय कुमार सोनी व उनकी टीम के द्वारा थाना किरनापुर में दर्ज अपराध क्रमांक 214/18 धारा 302 ताहि के प्रकरण में घटना 14 अगस्त 2018 को चौकी किन्ही के ग्राम जामड़ीमेटा में हुए अंधे हत्या कांड का खुलासा करते हुए मृतक गेंदलाल मसराम की हत्या करने वाले आरोपियों से घटना में प्रयुक्त लोहे की बरछी तथा लोहे की टांगी (कुल्हाड़ी) बरामद कर आरोपियों को गिरफ्तार करने किया है।
जानकारी देते हुए एसडीओपी रामनरेश पचौरी ने बताया कि उपरोक्त पांच माह पूर्व घटित हुए इस हत्याकांड में गिरफ्तार आरोपी देवलाल गौंड़ द्वारा बताया गया कि मृतक गेंदालाल मसराम पर उसे जादूटोना करने का शक था। मृतक द्वारा किए गए जादू-टोना के कारण पूर्व में उसके पिता, भाई व परिवार के अन्य लोगों की मृत्यु होने की आशंका आरोपी को थी। आरोपी की बहु कुंताबाई पिछले 6-7 माह से बीमार थी। जिसका इलाज चल रहा था। लेकिन कोई फायदा नहीं हो रहा था। आरोपी को शंका थी कि गेंदलाल के जादू-टोने के कारण ही उसकी बहु कुंताबाई की तबीयत खराब हुई है। इसी जादू-टोना की शंका व पुरानी दुश्मनी के कारण 14.08.2018 को रात्रि के समय आरोपी देवलाल गौंड ने उसके साथी ओपन सिंह के साथ मिलकर गेंदलाल मसराम की हत्या करना कबूल किया है। पुलिस ने मामले में दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया। जहां से दोनों ही आरोपियों को जेल भेज दिया गया है। उपरोक्त हत्याकाण्ड़ का खुलासा करने वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में थाना प्रभारी किरनापुर व वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा गठित टीम के सउनि मुरलीधर कटरे, प्रआर नेहरू बहेरवंश, आर सुनील बिसेन, भूपेन्द्र चौहान, कैलाश मेश्राम व पुलिस चौकी किन्ही के स्टॉफ का सराहनीय योगदान रहा।

mukesh yadav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned