स्नान ध्यान कर की सूर्यदेवता की पूजा

mahesh doune

Publish: Jan, 14 2018 08:31:18 PM (IST) | Updated: Jan, 14 2018 08:32:09 PM (IST)

Balaghat, Madhya Pradesh, India
स्नान ध्यान कर की सूर्यदेवता की पूजा

हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी मकर संक्राति का पर्व नगर सहित जिले भर में हर्षोल्लास से विधि-विधान के साथ मनाया गया।

बालाघाट. हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी १४ जनवरी को मकर संक्राति का पर्व नगर मुख्यालय सहित जिले भर में हर्षोल्लास से विधि-विधान के साथ आस्थापूर्वक मनाया गया। सुबह से ही नदियों व सरोवरों में स्नान करने लोगों की भीड़ लगने लगी। इसके अलावा पिकनिक स्थलों में भी लोगों की भीड़ लगी रही। मकर संक्राति पर्व पर सूर्यदेवता की पूजा अर्चना कर सूर्य को गुड़ व तिल सहित अन्य पूजन सामग्री अर्पण किया गया। इस पर्व में तिल व गुड़ का काफी महत्व होता है। लोगों ने तिल व मुर्रा के लड्डू बनाए।
गौरतलब हो कि इस वर्ष मकर संक्राति रविवार को होने से शासकीय कार्यालयों में अवकाश के साथ ही मजदूरों के काम बंद रहते हैै। जिससे नदी तटों व पिकनिक स्थलों में हर वर्ष की अपेक्षा अधिक भीड़ रही।
इन घाटों पर रहा मेला सा माहौल
मकर संक्राति पर्व मनाने वैनगंगा नदी तट के बजरंग घाट, आमाघाट, जागपुर घाट, भमोड़ी घाट व गर्रा पुल के नीचे लोगों की भीड़ होने से मेला जैसा माहौल रहा। इसके अलावा वनस्पति उद्यान व गांगुलपारा में भी पिकनिक मनाने वालों की काफी भीड़ रही है। इन स्थलों पर बच्चों के खिलौने व चाय नास्ता सहित अन्य दुकानें भी लगी रही।
आसमान में उड़ते दिखी रंग-बिरंगी पतंग
इस पर्व में पतंग उड़ाना शुभ माना जाता है। जिससे दोपहर से देर शाम तक आसमान में रंग-बिरंगी पतंगे उड़ते नजर आई। ज्योतिषाचार्यो के अनुसार मकर संक्राति में पतंग उड़ाने से शुक्र व शनि शुभ होते हैं। बाजारों में पतंगों व धागा की बिक्री भी अच्छी हुई।
पिकनिक स्थलों पर पुलिस मौजूद
इस पर्व में शांति व सुरक्षा बनाए रखने की मंशा से पिकनिक स्थलों व प्रमुख नदी घाटों में पुलिस जवान मौजदू रहे। जिससे किसी तरह की अनहोनी घटना नहीं घटित हुई। सभी लोगों ने पर्व को शांतिपूर्वक भक्तिमय वातावरण व पिकनिक का आनंद लेकर मनाया।

Ad Block is Banned